ताज़ा खबर
 

दिल्ली: कारोबारी को घर के बाहर लूटा, विरोध जताया तो मार दी गोली, हार्ट अटैक समझ कंफ्यूज हुए घरवाले

ज्योति नगर में एक कारोबारी को लूट का विरोध करने पर उसे बदमाशों ने गोली मार दी। मामले में पुलिस ने मर्डर का केस दर्ज कर लिया है।

Author नई दिल्ली | Updated: September 17, 2019 1:31 PM
प्रतीकात्मक फोटो (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

दिल्ली के ज्योति नगर में एक व्यापारी को लूट का विरोध करना पड़ गया भारी, लुटेरों ने उसके ही घर के सामने उसे गोली मार कर हत्या कर दी। मामला सोमवार (16 सितंबर) की रात का है। बताया जा रहा है कि लुटेरे लूट की फिराक में थे और वे लोग व्यापारी राजुल गुप्ता को लूटना चाह रहे थे। राजुल के विरोध करने पर उन लोगों ने उसे गोली मार दी और उसके सोने की चैन, पैसे और कागजात से भरा बैग को लेकर मौके से फरार हो गए। पुलिस जांच में लगी और मामले में खुलासा पोस्टमार्टम के बाद ही करने की बात कह रही है।

क्या है पूरा मामलाः बता दें कि राजुल गुप्ता हमेशा की तरह अपना शोरूम बंद करके घर वापस आ रहे थे। उनके घर के सामने उनपर कुछ लुटेरों ने हमला कर उनसे लूट करना चाहा। उनका विरोध करने पर उन लोगों ने उन्हें गोली मार दी। इसके बाद लूटेरे राजुल के सोने की चैन और पैसे लेकर फरार हो गए। हादसे के बाद राजुल का स्कूटर उसके घर के गेट से जा टकराया। इसके बाद उसके घर वाले बाहर आए और उन्हें संभाला। राजुल को पास के एक अस्पताल में ले जाया गया।

National Hindi News 17 September 2019 LIVE Updates: देश की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

परिवार वालों को पता भी नहीं कि उन्हें गोली लगीः पुलिस उपायुक्त (उत्तर-पूर्व) वेद प्रकाश सूर्या के अनुसार, राजुल प्रेशर की बिमारी से पीड़ित था। हादसे के बाद परिवार वालों को लगा कि उनको दिल का दौरा पड़ा है। परिवार वालो उसके साथ लूट और गोली लगने की बात से अंजान थे। अस्पताल में भर्ती के बाद डॉक्टरों ने बताया कि उन्हें गोली लगी है। हालांकि इसकी पुष्टी पोस्टमार्टम के बाद ही हो पाएगी।

पुलिस ने किया मर्डर का दावाः राजुल गुप्ता को अस्पताल लाने के बाद ही उसकी मृत्यु हो गई। पुलिस का कहना है कि उन्हें पहले राजुल के भाई द्वारा उसको दिल का दौरा पड़ने की खबर मिली थी। फिर कुछ देर बाद अस्पताल द्वारा उसको गोली लगने की भी बात सामने आई है। वहीं पूरे इस मामले में पुलिस का दावा है कि उसकी मौत गोली लगने से हुई है।

कोई गवाह नहीं मिलने पर कार्रवाई में दिक्कतः वेद प्रकाश सूर्या का कहना है कि हादसे का कोई सबूत या गवाह न होने के कारण कार्रवाई में दिक्कत हो रही है। वहीं पुलिस मामले को हर मोड़ से जोड़ कर देख रही है। पुलिस का यह भी कहना है कि उन्हें घटना के पास से कोई कॉल भी नहीं आया था। गौरतलब है कि पुलिस ने मामले में मर्डर का केस दर्ज कर लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘दोनों को साथ देख लिया तो गोली मार दूंगा’, बहन की लव मैरिज पर चचेरे भाई ने दी थी धमकी, कर डाला डबल मर्डर
2 राजस्थान: चाची-भतीजे के प्रेम-संबंध पर भड़के दबंग, पहले पीटा, फिर जबरन पिला दिया टॉयलेट
3 BSP जिलाध्यक्ष पर नाबालिग को अगवा और यौन शोषण करने का आरोप, मुकदमा दर्ज