ताज़ा खबर
 

सोहराबुद्दीन एनकाउंटर के बाद 7 साल रहे जेल में, इनामी ड्रग तस्कर पकड़ने वाले ‘सुपर कॉप’ हिमांशु राजावत की कहानी

राजस्थान पुलिस के इंस्पेक्टर हिमांशु सिंह राजावत का नाम भी एनकाउंटर करने वाले पुलिसकर्मियों में शामिल था। हिमांशु को करीब 7 साल 3 महीने जेल में काटने पड़े थे। हालांकि बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी।

सोहराबुद्दीन एनकाउंटर करने वाले हिमांशु राजावत (Photo- Himanshu Rajawat/Twitter)

26 नवंबर 2005 को गुजरात एटीएस और राजस्थान एसटीएफ ने सोहराबुद्दीन एनकाउंटर किया था। इस एनकाउंटर की गूंज लंबे समय तक सत्ता के गलियारों तक गूंजी थी। राजस्थान एसटीएफ की टीम में हिमांशु सिंह राजावत नाम के सब-इंस्पेक्टर भी शामिल थे। बाद में ये मामला बॉम्बे हाईकोर्ट तक पहुंचा था। एनकाउंटर को लेकर शुरुआत में कई सवाल उठे थे और कई पुलिसकर्मियों को इसमें जेल तक जाना पड़ा था।

राजस्थान पुलिस के इंस्पेक्टर हिमांशु सिंह राजावत का नाम भी एनकाउंटर करने वाले पुलिसकर्मियों में शामिल था। हिमांशु को करीब 7 साल 3 महीने जेल में काटने पड़े थे। हालांकि बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी और साल 2018 में कोर्ट ने उन्हें निर्दोष साबित किया। आज हिमांशु राजावत को ‘सुपर कॉप’ के नाम से भी जाना जाता है और वह इसके अलावा कई अपराधियों को भी पकड़ चुके हैं।

ड्रग तस्कर शोएब लाला को किया गिरफ्तार-

एक समय में ‘लाला गैंग’ का राजस्थान और मध्य प्रदेश के कुछ इलाकों में दबदबा था। इस गैंग का मुख्य का इलाके में ड्रग तस्करी को बढ़ावा देना था। राजस्थान के प्रतापगढ़ में इस गैंग का संचालक शोएब लाला रहता था। शोएब के क्रिमिनल रिकॉर्ड का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उस पर मध्य प्रदेश में 25 हजार का इनाम था और राजस्थान में 10 हजार रुपए का।

सूबे में ड्रग की तस्करी की खबर आला अधिकारियों तक पहुंची तो इसे रोकने की जिम्मेदारी हिमांशु सिंह राजावत को दी गई। हिमांशु ने भी अपना काम पूरी ईमानदारी से किया और 2012 से फरार शोएब का पूरा बायो-डेटा इकट्ठा किया। राजस्थान के प्रतापगढ़ में अन्य पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर हिमांशु ने शोएब लाला को गिरफ्तार भी किया। उसके पास से ‘ब्राउन शुगर’ जब्त की थी। जिसकी बाजार में कीमत करीब 45 करोड़ रुपए है।

सुष्मिता सेन ने समझ लिया था हीरो-

बॉलीवुड एक्ट्रेस सुष्मिता सेन एक बार राजस्थान में शूटिंग करने आई थीं। यहां हिमांशु सिंह की भी ड्यूटी लगी थी। हिमांशु को देखकर वह भी चौंक गई थीं और नाराज भी हो गई थीं। दरअसल सुष्मिता सेन उन्हें एक्टर समझ बैठी थी और देरी से आने पर नाराज होने लगी थीं। बाद में जब हिमांशु ने उन्हें बताया कि वह एक्टर नहीं बल्कि इंस्पेक्टर हैं तो वह मुस्कुराने लगीं।

Next Stories
1 सांड़ ने कर दिया हेरोइन तस्करों का ‘भंडाफोड़’, गाड़ी की स्टेपनी में मिला 4 करोड़ का ड्रग्स
2 12 साल की नाबालिग के साथ उत्पीड़न का विरोध करना पड़ा भारी, बॉक्सर की चाकू से गोदकर हत्या
3 यूट्यूब चैनल के लिए दिल्ली पुलिस के जवान ने महिला हेड कॉन्स्टेबल के साथ थाने में बनाया वीडियो, वायरल होने पर मिला नोटिस
ये पढ़ा क्या?
X