ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली: प्रेमी संग बेटी ने मां-बाप का गला घोंटा, सूटकेस में लाश भरकर नाले में बहा दी

आरोप है कि 21 फरवरी को देविंदर ने पिता को चाय में नशीला पदार्थ देकर बेहोश कर दिया। पिता जैसे ही सोए बेटी ने गला दबाकर उनकी हत्या कर दी गई। इस वारदात में प्रिंस के साथ दो अन्य लोग भी शामिल थे।

Author March 12, 2019 10:10 AM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फोटो सोर्स एपी)

पश्चिम विहार में संपत्ति के लिए माता-पिता की हत्या का मामला सामने आया है। पति से अलग प्रेमी के साथ रह रही 26 साल की बेटी पर पहले पिता की और कुछ दिन बाद मां की हत्या का आरोप लगा है। आरोप है कि हत्या के बाद बेटी ने दोनों के शवों को सूटकेस में बंदकर नांगलोई के सैयद गांव के पास नाले में फेंक दिया। बेटी की पहचान देविंदर कौर उर्फ सोनिया और उसके प्रेमी प्रिंस दीक्षित (29) उर्फ विक्रम के रूप में हुई है।

देविंदर दीपक विहार निलोठी एक्सटेंशन और प्रिंस लखनऊ के गोमती नगर एक्सटेंशन में रहता है। हत्या के दोनों मामलों में पुलिस को कुछ और लोगों की तलाश है। बाहरी जिला पुलिस उपायुक्त सेजू पी कुरूविल्ला के मुताबिक बीते शुक्रवार को पुलिस को शाम 4:30 बजे सूचना मिली थी कि नांगलोई के सैयद गांव के नाले में एक महिला की लाश तैर रही है। सूचना मिलते ही आला अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। वहां एक सूटकेस में एक महिला की लाश मिली।

पश्चिम विहार पश्चिम थाना में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई। जांच के दौरान महिला की पहचान जागीर कौर के रूप में हुई। जांच आगे बढ़ी तो पता चला कि उसके पति गुरमीत सिंह भी कुछ दिनों से गायब हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए कई टीमें बनीं। 9 मार्च को पुलिस टीम को जागीर के पति की लाश भी मिली। पुलिस ने बेटी देविंदर को संदेह के घेरे में पाया। सख्ती से पूछताछ हुई तो उसने माता-पिता की हत्या कबूल ली।

देविंदर अपने पति से अलग प्रिंस दीक्षित नामक युवक के साथ एक साल से रह रही है। वह माता-पिता की संपत्ति अपने नाम करना चाहती थी। इसके लिए उसके माता-पिता राजी नहीं हो रहे थे। ऐसे में बेटी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर माता-पिता की हत्या की योजना बनाई। दस फरवरी को जागीर कौर अपने पिता को देखने जालंधर गर्इं।

आरोप है कि 21 फरवरी को देविंदर ने पिता को चाय में नशीला पदार्थ देकर बेहोश कर दिया। पिता जैसे ही सोए बेटी ने गला दबाकर उनकी हत्या कर दी गई। इस वारदात में प्रिंस के साथ दो अन्य लोग भी शामिल थे। हत्या के बाद शव को नाले में फेंक दिया। इसके बाद प्रिंस अपने साथियों के साथ लखनऊ चला गया। दो मार्च को जागीर पंजाब से लौटीं तो देविंदर ने प्रिंस को बुला लिया।

उसी दिन देविंदर ने चाय में नशीला पदार्थ मिलाकर मां को बेहोश कर दिया। आरोप है कि बेटी ने जागीर की भी गला दबाकर हत्या कर दी और साथियों के साथ मिलकर शव को नाले में फेंक दिया। पुलिस ने दोनों की गिरफ्तारी के बाद अन्य आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App