बिल के लिए बुजुर्ग को बेड से बांधने के मामले में हुई कार्रवाई, अस्पताल सील रजिस्ट्रेशन कैंसिल; मैनेजर पर केस दर्ज

Coronavirus, (Covid-19), Man Tied To Hospital Bed For Bills Now Nursing home's Registration Is Cancelled: अस्पताल के बेड पर लेटे-लेटे ही बुजुर्ग के हाथ-पैर बांध दिये गये थे। ऐसी तस्वीर सामने आने के बाद हड़कंप मच गया था और अस्पताल प्रशासन सफाई देने में जुट गया था।

crime, crime news, coronavirusबताया गया था कि 11,000 रुपए का बिल ना चुकाने पर बुजुर्ग को बेड से बांध दिया गया था। फोटो सोर्स – ANI

Coronavirus, (Covid-19), Man Tied To Hospital Bed For Bills Now Nursing home’s Registration Is Cancelled: मध्य प्रदेश के शाजापुर सिटी हॉस्पिटल में बुजुर्ग को बेड से बांधने के मामले में अब कार्रवाई हुई है। यहां बिल का भुगतान नहीं करने पर 80 साल के बुजुर्ग को बेड से बांध दिया गया था जिसकी तस्वीर मीडिया के जरिए सामने आई थीं। राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पहले ही ट्वीट कर इस घटना पर नाराजगी जताई थी और कार्रवाई के निर्देश दिए थे। सीएम के निर्देश के बाद जांच कमेटी भी बनाई गई थी जिसने जांच में अस्पताल प्रबंधन पर लगे आरोपों को सही पाया है। न्यूज एजेंसी ‘ANI’ के मुताबिक शाजापुर सिटी हॉस्पीटल का रजिस्ट्रेशन कैंसिल कर दिया गया है और अस्पताल को सील कर दिया गया है। इसके अलावा अस्पताल के मैनेजर के खिलाफ केस भी दर्ज किया गया है। यहां के District Collector ने यह कार्रवाई की है।

बेटी ने लगाया था यह आरोप: आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले बुजुर्ग को पेट में दर्द की शिकायत के बाद इस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बुजुर्ग व्यक्ति की बेटी ने आरोप लगाया था कि एडमिशन के वक्त उन्होंने अस्पताल में पैसे जमा कराए थे। लेकिन कुछ दिनों तक इलाज करने के बाद अस्पताल प्रबंधन ने उनसे दोबारा पैसे मांग और पैसे देने में असमर्थता जताने पर उनके पिता के हाथ-पांव बेड से बांध दिये गये थे।

11,000 रुपए का बिल बताया गया था: इस घटना को लेकर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया था कि पीड़ित परिवार को अस्पताल प्रबंधन ने 11,000 रुपए का बिल थमाया था। लेकिन बिल ना चुका पाने पर बुजुर्ग से अमानवीय व्यवहार किया गया था। बड़ी मुश्किल से बुजुर्ग की बेटी ने गांव वालों की मदद से अपने पिता को वहां से छुड़ाया था।

अस्पताल प्रबंधन ने दी थी यह सफाई: अस्पताल के बेड पर लेटे-लेटे ही बुजुर्ग के हाथ-पैर बांध दिये गये थे। ऐसी तस्वीर सामने आने के बाद हड़कंप मच गया था और अस्पताल प्रशासन सफाई देने में जुट गया था। अस्पताल की तरफ से कहा गया था कि बुजुर्ग को दीमागी बुखार था और उनके छटपटाने की वजह से सूई के टूटने का खतरा बना हुआ था इसलिए उन्हें रस्सियों से जकड़ कर रखा गया था। प्रबंधन ने यह भी कहा था कि मानवता के आधार पर बुजुर्ग के इलाज का बिल माफ कर दिया गया है।

हालांकि अस्पताल प्रबंधन की तरफ से दिये गये सफाई के बावजूद जांच में उनपर लगे आरोप सही पाए गए हैं जिसके बाद उनपर बड़ी कार्रवाई हुई है। खबर है कि बुजुर्ग व्यक्ति को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Next Stories
1 लॉकडाउन का किया उल्लंघन तो पुलिस ने शख्स को बुरी तरह डंडे से पीटा, वीडियो वायरल होने के बाद मामले की जांच के आदेश
2 वसीम अहमद ‘दिनेश रावत’ बनकर लड़की से बनाता रहा संबंध, शादी का दबाव बनाया तो खुली पोल; अश्लील फोटो भी किये वायरल
3 J&K में बड़ी सफलताः 24 घंटे में हिज्बुल मुजाहिद्दीन के 9 दहशतगर्द ढेर, दो हफ्तों में 9 बड़े ऑपरेशन; 6 कमांडर्स समेत 22 आतंकी गिराए मार
X