ताज़ा खबर
 

दिल्ली: Covid-19 संक्रमित पत्रकार की AIIMS में मौत पर उठे सवाल, वायरल व्हाट्सऐप चैट में हत्या की जताई थी आशंका; स्वास्थ्य मंत्री ने दिए जांच के आदेश

Coronavirus Covid-19 Journalist Tarun Sisodia Death Case: दिल्ली के भजनपुरा के रहने वाले तरुण सिसोदिया को लेकर कहा जा रहा है कि उन्होंने अपने इलाज के दौरान अस्पताल की खामियों को लेकर ऊपर तक आवाज उठाई थी।

CRIME, CRIME NEWSपत्रकार तरूण सिसोदिया ने एम्स में अपनी हत्या का शक जताया था। फोटो सोर्स – सोशल मीडिया

Coronavirus Covid-19 Journalist Tarun Sisodia Death Case: COVID-19 पॉजीटिव पत्रकार की दिल्ली स्थित AIIMS में हुई मौत के बाद अब कई तरह की बातें कही जा रही हैं। सोशल मीडिया पर हाल ही में एक व्हाट्सऐप ग्रुप चैट का स्क्रीनशॉट वायरल हुआ है। इसमें दावा किया जा रहा है कि एक दैनिक अखबार के पत्रकार तरूण सिसोदिया ने अपनी मौत से पहले अपनी हत्या की आशंका जताई थी। जिस व्हाट्सऐप ग्रुप में तरुण ने मौत से पहले बातचीत की थी उसमें किसी ने उनसे पूछा था कि क्या हुआ तरुण जी..आपकी तबियत ठीक है न? इसके बाद कुछ अन्य पत्रकारों ने भी उनसे हालचाल लिया था। इसके जवाब में तरुण सिसोदिया ने लिखा था कि अच्छा नहीं हूं हत्या हो सकती है।’

वहाट्स ऐप पर हुई बातचीत के अंश वायरल होने के बाद से हड़कंप मच गया है। स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने इस मामले में एम्स के निदेश को तुरंत जांच कराने का आदेश दिया है। जिसके बाद एक उच्च स्तरीय कमेटी का गठन किया गया है जो इस मामले की जांच कर रही है। ऐसी उम्मीद है कि यह कमेटी अगले 48 घंटे में अपनी रिपोर्ट मंत्रालय को दे सकती है।

इस कमेटी में Chief of Neuroscience Centre, प्रोफेसर पद्मा, Head of Psychiatry Dept प्रोफेसर आरके चड्डा, Deputy Director (Admin) एस एच पांडा समेत अन्य चिकित्सक शामिल हैं।

इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री ने तरुण की मौत पर ट्वीट करते हुए कहा था कि युवा पत्रकार श्री तरुण सिसोदिया जी की मौत से गहरा आघात लगा है और दुखी हूं। यह एक बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। मेरे पास शब्द नहीं है इसे बयां करने के लिए। मेरी संवेदना उनके परिवार के साथ है..मैंने इस मामले की जांच के आदेश दिये हैं।’

आपको बता दें कि इससे पहले यह खबर आई थी कि कोरोना से संक्रमित पत्रकार तरुण सिसोदिया ने सोमवार (06-07-2020) को All India Institute of Medical Sciences (AIIMS) की चौथी मंजिल से कूदकर जान दे दी है।

दिल्ली के भजनपुरा के रहने वाले तरुण सिसोदिया को लेकर कहा जा रहा है कि उन्होंने अपने इलाज के दौरान अस्पताल की खामियों को लेकर ऊपर तक आवाज उठाई थी। जिसके बाद उन्हें बिना वजह आईसीयू में रख दिया गया था औऱ उनसे फोन भी ले लिया गया था ताकि वो किसी से बातचीत ना कर सकें।

तरुण सिसोदिया की शिकायत मंत्रालय तक पहुंच गई थी जिसके बाद अस्पताल प्रबंधन ने उनके साथ ऐसा व्यवहार करना शुरू कर दिया था। ताकि वो आगे अस्पताल की खामियों को उजागर करते हुए शिकायत ना कर सकें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 असम: BJP के सचिव नयन दास गिरफ्तार, पत्नी को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप
2 पुलिसकर्मी के माता-पिता को उठा ले गए नक्सली, मचा हड़कंप; तलाश के लिए टीमें गठित
3 Kanpur Encounter News: ‘सबको मार डालो इनकी हिम्मत कैसे हुई यहां आने की’, एनकाउंटर के दिन चीख कर अपने गुर्गों को हुक्म दे रहा था विकास दुबे
ये पढ़ा क्या?
X