ताज़ा खबर
 

राजनाथ सिंह के बाद अब ओडिशा में BJP सांसद प्रताप चंद्र सारंगी के लापता होने का पोस्टर, कांग्रेस नेताओं पर केस दर्ज

Coronavirus (COVID-19), Missing Posters Of Pratap Chandra Sarangi: बताया जा रहा है कि सारंगी 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दौरान अपने नीलगिरी स्थित आवास पर नजर आए थे। उस वक्त थाली बजाते हुए उनका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।

crime, crime news, coronavirusकेंद्रीय राज्यमंत्री के लापता होने के पोस्टर उन्हीं के संसदीय क्षेत्र में लगाए गए हैं। फोटो सोर्स – फेसबुक

Coronavirus (COVID-19), Missing Posters Of Pratap Chandra Sarangi: केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह के बाद एक और केंद्रीय राज्यमंत्री प्रताप चंद्र सारंगी के लापता होने के पोस्टर ओडिशा के बालासोर में लगाए गए हैं। इस मामले में 2 कांग्रेसी नेताओं पर केस दर्ज किया गया है। यहां आपको बता दें कि सारंगी बालासोर से ही भाजपा के सांसद हैं और उन्ही के संसदीय क्षेत्र में अलग-अलग स्थानों मसलन- स्टेशन स्कवॉयर, कचेरी और बालासोर अदालत इलाके में यह पोस्टर लगाए गए हैं।

सारंगी के लापता होने के जो पोस्टर्स चिपकाए गए हैं उनमें लिखा हुआ है कि ‘हमारे एमपी लापता हैं। बालासोर के लोग कृप्या कर उन्हें खोजने में हमारी मदद करें।’ एक अन्य पोस्टर में लिखा गया है कि ‘काफी लंब समय से सारंगी बालासोर में नजर नहीं आए हैं उन्हें खोजने में हमारी मदद करें।’

यहां पुलिस ने मीडिया को जानकारी दी है कि केंद्रीय मंत्री के लापता होने के पोस्टर्स लगने के बाद पार्टी नेताओं ने इस पार्टी की छवि को धूमिल करने का प्रयास बताते हुए केस दर्ज कराया है। पोस्टर्स लगाने के आरोप में इस मामले में अब कांग्रेस के दो नेताओं संजीव गिरी और सुधांशु शेकर जेना के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

हालांकि इस पूरे मामले पर संजीव गिरी ने कहा कि ‘यह पोस्टर्स सोशल मीडिया पर वायरल हुए हैं। हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने इसे शेयर किया है। मंत्री इसके लिए हमें कैसे दोषी ठहरा सकते हैं? जनता कर्फ्यू के दौरान मंत्री यहीं थे और मुझे लगता है कि वो लॉकडाउन के बाद दिल्ली गए हैं।’

वहीं भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज हरिचंदन ने कहा कि ‘लॉकडाउन के दौरान विमान सेवाएं बंद थीं जिसकी वजह से केंद्रीय मंत्री बालासोर आ पाने में असमर्थ थे। विमान सेवाएं रेगुलर होते हीं वो निश्चित तौर से अपने संसदीय क्षेत्र में आएंगे।’

बताया जा रहा है कि  सारंगी 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दौरान अपने नीलगिरी स्थित आवास पर नजर आए थे। उस वक्त थाली बजाते हुए उनका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। कहा जा रहा है कि बालासोर समेत ओडिशा के अलग-अलग तटीय इलाकों में जब साइक्लोन अम्फान ने दस्तक दी थी उस वक्त भी सारंगी नजर नहीं आए थे।

सारंगी ने कोरोना वायरस से जंग में अपने सांसद निधि फंड से पैसे देने की बात कही थी। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कुछ मीटिंग में हिस्सा भी लिया था। बता दें कि केंद्रीय MSME राज्यमंत्री सारंगी साल 2019 में बालासोर लोकसभा सीट से चुनाव जीते थे। उन्होंने बीजेडी के कद्दावर नेता और पूर्व सांसद रविंद्र कुमार जेना को चुनाव में पटखनी दी थी।

इससे पहले उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और पार्टी के विधायक सुरेश श्रीवास्तव के लापता होने के पोस्टर लगाए गए थे। जिसके बाद पुलिस बीजेपी नेताओं ने आरोप लगाया था कि इसके जरिए पार्टी की छवि को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई है और मामले में 2 सपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार भी किया गया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अनलॉक-1.0: लॉकडाउन में बाइक चोरी कर परिवार वालों को गांव पहुंचाया, अब पार्सल से मालिक को लौटा दी मोटरसाइकिल
2 गर्भवती महक खान को हॉस्पिटल ने एडमिट नहीं किया तो ऑटो में ही चली गई जान, 3 अस्पतालों पर केस दर्ज
3 ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेन में मजदूरों पर बिस्कुट के पैकेट फेंक उड़ा रहे थे मजाक, VIDEO वायरल होने पर इंस्पेक्टर सस्पेंड
यह पढ़ा क्या?
X