ताज़ा खबर
 

पहली बार मासिक धर्म आने से तनाव में थी, 12 साल की बच्ची ने उठा लिया यह खौफनाक कदम

चुन्नी का फंदा बनाकर पंखे से झूलती इस बच्ची को परिजनों ने आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

crime, crime news, suicideलड़की ने माता-पिता ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। प्रतीकात्मक तस्वीर।

महिलाओं को मासिक धर्म आना एक आम बात है। लेकिन क्या कोई माहवारी के आने से मानसिक तनाव में भी आ सकता है? यह सवाल इसलिए उठे हैं क्योंकि एक बच्ची माहवारी के आने से इस कदर मानसिक तनाव में आ गई कि उसने एक खौफनाक कदम उठा लिया। यह घटना दिल्ली के बुराड़ी इलाके की है। इस इलाके के संतनगर में 12 साल की यह बच्ची अपने माता-पिता और बहन के साथ रहती थी। पांचवीं में पढ़ने वाली इस छात्रा ने बीते गुरुवार (18 मई, 2019) को अचानक अपने कमरे में फांसी लगा ली।

जानकारी के मुताबिक इस दिन बच्ची अन्य दिनों के मुताबिक ही घर वालों से व्यवहार कर रही थी, लेकिन अचानक उसने अपने आप को कमरे में बंद कर इतना खौफनाक कदम उठा लिया। परिजनों को जब इस बात की जानकारी हुई तो वो बच्ची के कमरे का दरवाजा तोड़ कर उसके कमरे में दाखिल हुए। चुन्नी का फंदा बनाकर पंखे से झूलती इस बच्ची को परिजनों ने आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

इस बात की जानकारी मिलते ही पुलिस ने पूरे मामले की छानबीन शुरू कर दी। बच्ची के कमरे की तलाशी के दौरान पुलिस को वहां से कोई भी सुसाइड नोट या अन्य संदिग्ध चीजें बरामद नहीं हुई। इस बच्ची की बड़ी बहन ने बताया कि कुछ ही दिनों पहले उनकी बहन को पहली बार मासिक धर्म आया था और इसकी वजह से वो काफी मानसिक तनाव से गुजर रही थी। इस लड़की की बड़ी बहन ने बताया कि उसने उसे समझाने की भी काफी कोशिश की थी लेकिन वो इसके बाद भी काफी तनाव में थी। घरवालों का कहना है कि बच्ची ने तनाव में आकर यह आत्मघाती कदम उठाया। बहरहाल पुलिस इस मामले की हर एंगल से जांच कर रही है। (और…CRIME NEWS)

Next Stories
1 चरित्र पर शक था, पिता ने डीजल छिड़क-छिड़क कर बेटी को जिंदा जलाया
2 विदेश से फ्लाइट में बैठकर आता था चोर, भारत आकर ट्रेनों में चोरी कर यूं हो जाता था फरार
3 बिल्ली के 2 बच्चों को बेरहमी से पीटा, फिर उल्टा लटका दिया, लोगों ने टोका तो बोला- जो करना है कर लो
आज का राशिफल
X