ताज़ा खबर
 

सीरियल किलर: हत्या से पहले बच्चों से करता है रेप, पुलिस ने 20 संदिग्धों को पकड़ा

यहां के स्थानीय लोगों का कहना है कि इस इलाके में बच्चों के खिलाफ यौन हिंसा और उनकी हत्याओं से जुड़ी कई खबरें सामने आईं हैं लेकिन प्रशासन अब तक इसके लिए जिम्मेदार शख्स को पकड़ने में नाकाम रहा है।

CRIME, CRIME NEWS, SERIAL KILLERसभी पकड़े गए लोगों का DNA टेस्ट कराया जा रहा है। प्रतीकात्मक तस्वीर।

एक के बाद बच्चों की हत्या होने से यहां लोग स्तब्ध हैं। बच्चों के कातिल को पकड़ने के लिए अब तक 20 संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया है। लेकिन अब तक हत्यारा कानून की पकड़ से दूर है। पाकिस्तान के चुनियान में तीन बच्चों का शव कुछ ही दिनों पहले मिला था। तीनों मासूमों के साथ पहले रेप और फिर बाद में उनकी हत्या की गई थी।

स्थानीय मीडिया के मुताबिक इस जिले में 3 और बच्चे पिछले कुछ महीनों से लापता हैं और जिन तीन बच्चों के शव अभी मिले हैं वो पिछले ही हफ्ते लापता हो गए थे। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से बातचीत करते हुए रिजनल पुलिस ऑफिसर जुल्फिकार हामिद ने कहा कि इन इन तीनों बच्चों के शव एक ही जगह से बरामद किेये हैं लिहाजा पुलिस को शक है कि इन मौतों में किसी सीरियल किलर का हाथ हो सकता है।

इस मामले में जिला पुलिस अधिकारी ज़ाहिद नवाज़ ने बीते सोमवार को बताया कि 20 संदिग्धों के DNA सैम्पल को जांच के लिए भेजा गया है। बता दें कि पाकिस्तान में बच्चों की मौत को लेकर सैकड़ों लोगों ने पिछले ही हफ्ते प्रदर्शन भी किया था। प्रदर्शन के दौरान कई गलियों को प्रदर्शनकारियों ने जाम कर दिया था और कुछ दुकानों को भी नुकसान पहुंचाया गया था।

बता दें कि चुनियान, कसूर जिले में स्थित है। यह जगह लाहौर से ज्यादा दूर नहीं है। यहां के स्थानीय लोगों का कहना है कि इस इलाके में बच्चों के खिलाफ यौन हिंसा और उनकी हत्याओं से जुड़ी कई खबरें सामने आईं हैं लेकिन प्रशासन अब तक इसके लिए जिम्मेदार शख्स को पकड़ने में नाकाम रहा है। याद दिला दें कि साल 2015 में यहां सैकड़ों स्थानीय बच्चों के यौन उत्पीड़न का एक वीडियो भी वायरल हुआ था।

उस वक्त एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा था कि पाकिस्तान के इतिहास में बच्चों के खिलाफ अपराध की यह सबसे बड़ी घटना है। पिछले वर्ष 7 साल की एक बच्ची का शव कूड़ेदान में मिला था। जिसके बारे में पुलिस ने कहा था कि उस साल बच्ची की रेप और उसकी हत्या का यह 12वां मामला है। उस वक्त एक युवक को हत्या के लिए सजा भी दी गई थी।

बता दें कि बच्चों की सुरक्षा से जुड़ी एक संस्था ने माना है कि साल 2018 में बच्चों से यौन हिंसा के करीब 3800 मामले सामने आए थे। बच्चों के साथ हिंसा की खबरें सिर्फ कसूर में नहीं बल्कि पंजाब जैसे राज्य से भी आ रही हैं। (और…CRIME NEWS)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 22 दिनों में 12 गोलीकांड और 4 हत्याएं, अपराधमुक्त UP का ढोल पीटना बंद करे योगी सरकार; प्रियंका गांधी का तंज
2 वाराणसी: BHU में चायवाले की ईंट से कूचकर हत्या, दुकान के पास खून से सनी मिली लाश
3 Dhadak Movie देख घर छोड़कर भागे नाबालिग, RPF ने पकड़ा तो बोले- करा दो हमारी शादी
IPL 2020 LIVE
X