scorecardresearch

CBI के नंबर से पूर्व सांसद को लगाया फोन, खुद को ऑफिसर बताकर मांगी रिश्वत, पुलिस ने दो को धर दबोचा

केंद्रीय जांच ब्यूरो के प्रवक्ता नीतिन वकानकर ने बयान जारी कर बताया कि, ‘‘उन्होंने बैंक धोखाधड़ी से संबंधित मामले के एक आरोपी से संपर्क किया और दिल्ली में तैनात जांच एजेंसी के एक वरिष्ठ अधिकारी के नाम पर उससे बड़े पैमाने पर रिश्वत की मांग की।’’

crime news, crime
प्रतीकात्मक तस्वीर, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस
केंद्रीय जांच ब्यूरो ने दो ऐसे लोगों को गिरफ्तार किया है, जो सीबीआई अधिकारी होने का फर्जी दावा करके बैंक धोखाधड़ी मामले के एक आरोपी से रिश्वत मांग रहे थे और उसे धमकी दे रहे थे। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी। हाल के समय में यह तीसरा मामला है, जब लोगों ने एजेंसी के लैंडलाइन नंबर से चकमा देकर उन मामलों के संदिग्धों से रिश्वत की मांग की, जिसकी जांच केंद्रीय एजेंसी कर रही है । इसी क्रम में टीडीपी के पूर्व सांसद रायपति संबाशिव राव को फर्जी अधिकारी बन कॉल किया गया था।

फर्जी कॉल कर रिश्वत की मांग की: हैदराबाद के रहने वाले वाई मणिवर्द्धन रेड्डी एवं तमिलनाडु के मदुरै निवासी सेल्वम रामराज को गुरुवार (16 जनवरी) को दर्ज किये गए मामले के सिलसिले में एजेंसी ने गिरफ्तार किया। उनके खिलाफ आरोप लगाया गया है कि केंद्रीय एजेंसी की जांच का सामना कर रहे विभिन्न लोगों से इन्होंने बड़े पैमाने पर न केवल रिश्वत की मांग की बल्कि उन्हें धमकाया भी।

Hindi News Live Hindi Samachar 19 January 2020: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे

जांच केंद्रीय एजेंसी कर रही है: केंद्रीय जांच ब्यूरो के प्रवक्ता नितिन वकानकर ने बयान जारी कर बताया, ‘‘उन्होंने बैंक धोखाधड़ी से संबंधित मामले के एक आरोपी से संपर्क किया और दिल्ली में तैनात जांच एजेंसी के एक वरिष्ठ अधिकारी के नाम पर उससे बड़े पैमाने पर रिश्वत की मांग की।’’ इसमें कहा गया है कि उन्होंने एक सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर सीबीआई मुख्यालय के लैंड लाइन नंबर से आरोपी को फोन किया, जो बैंक धोखाधड़ी से संबंधित था और जिसकी जांच केंद्रीय एजेंसी कर रही है।

पूर्व सांसद को बनाया निशाना: प्रवक्ता ने बताया कि यह कॉल आरोपी के मोबाइल फोन से की गई थी। दोनों ने खुद को नई दिल्ली में तैनात सीबीआई का वरिष्ठ अधिकारी बताया और उसे बचाने के लिए रिश्वत की मांग की। इस क्रम आरोपियों ने टीडीपी के पूर्व सांसद रायपति संबाशिव राव से बैंक धोखाधड़ी के एक मामले में केंद्रीय एजेंसी के वरिष्ठ अधिकारी बनकर लैंडलाइन नंबर से कॉल रिश्वत की मांग की थी।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट