ताज़ा खबर
 

नहीं रहा मां को जल्लाद रेपिस्ट से बचाने वाला मासूम, सनकी बलात्कारी ने डंबल से फोड़ दिया था सिर

अक्टूबर के महीने में उसे फ्लू हो गया और काफी इलाज के बाद भी उसकी तबियत बिगड़ती चली गई। आखिरकार यह बहादुर बेटा जिंदगी की जंग हार गया।

चित्र का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है

अब से करीब 19 साल पहले एक वहशी ने एक महिला की इज्जत तार-तार करने की कोशिश की थी। उस वक्त इस महिला की इज्जत बचाई थी उसके अपने ही बेटे ने। लेकिन अब इस बहादुर बेटे की मौत हो चुकी है। यह मामला रूस का है। रूस के सीवरोडविन्स्क में रहने वाली 43 साल की महिला नटालिया क्रैपिविनी आज खुद भी काफी बीमार हैं। जानकारी के मुताबिक करीब 19 महीना पहले नटालिया क्रैपिविनी पर उनके पड़ोस के ही रहने वाले शख्स रोमन प्रोनिन ने हमला किया था। वो नटालिया के साथ जबरदस्ती शारीरीक संबंध बनाना चाहता था। लेकिन उसी वक्त नटालिया का बेटा वैन्या क्रैपिविन स्कूल से लौट कर घर पहुंचा। उस वक्त वैन्या की उम्र 15 साल थी। घर में मां को लहुलूहान देख मां को बचाने की खातिर वैन्या ने घर में रखे डंबल से रोमन पर हमला कर दिया।

लेकिन इस वहशी ने इसी डंबल से वैन्या के सिर पर कई हमले कर दिए। रोमन के हमले में वैन्या बुरी तरह जख्मी हो गया। शोर होने की वजह से पड़ोस के लोग वहां आ गए और इन लोगों ने वहां पुलिस को बुला लिया। लेकिन उस वक्त रोमन फरार हो गया था। रोमन ने सोचा था कि उसके हमले में मां और बेटे की मौत हो चुकी है। लेकिन पड़ोस के लोगों ने दोनों को अस्पताल पहुंचाया। वैन्या की मां जख्मों से जल्दी उबर गईं लेकिन अपने बेटे की हालत देखकर वो मानसिक रुप से काफी टूट गईं।

रोमन ने डंबल से वैन्या का सिर बुरी तरह कुचल दिया था। चोट की वजह से वो 9 महीने तक कोमा में रहा। वैन्या के खोपड़ी की आगे की लगभग सभी हड्डियां चूर हो चुकी थीं। नटालिया को भी 27 जख्म लगे थे। मानसिक रुप से टूट चुकी एक मां अपने बेटे को इन 9 महीनों में सिर्फ 2 बार ही देखने आ सकी।


9 महीने से वैन्या कोमा में था। फोटो सोर्स – (vk/easttowestnews)

वैन्या को बचाने के लिए फंड रेजिंग कैंपेन भी चलाया गया था। डॉक्टरों ने वैन्या को बचाने की बहुत कोशिश की। कुछ महीने पहले उसकी हालत में कुछ सुधार भी हुआ था। डॉक्टर यह मान कर चल रहे थे कि जल्दी ही वो होश में भी आ जाएगा। लेकिन अक्टूबर के महीने में उसे फ्लू हो गया और काफी इलाज के बाद भी उसकी तबियत बिगड़ती चली गई। आखिरकार यह बहादुर बेटा जिंदगी की जंग हार गया। बीते मंगलवार को वैन्या की मौत हो गई। उस वक्त जब रोमन प्रोनिन को 14 साल की जेल की सजा सुनाई गई थी अब उसपर हत्या का मुकदमा भी चलेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App