ताज़ा खबर
 

पहले सवारी बन हाईजैक की Cab, ड्राइवर को लूट उसी कैब से कारोबारी को लूट डाला; कारनामे से Delhi Police भी हैरान

पुलिस के मुताबिक, 'लूटने के बाद बदमाश ड्राइवर को लोनी स्थित टीला गांव ले गए। वहां उसे नशा कराया और फिर उसके फोन पर आने वाली बुकिंग रिक्वेस्ट पर नजर रखी।

प्रतीकात्मक तस्वीर, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

कैब हाइजैक कर यात्रियों को लूटने वाले चार बदमाशों को दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने धर दबोचा है। आरोपियों की पहचान हाशिम (25), सत्यबीर पांडेय (36), सचिन पासवान (22) और माजिद सलमानी (22) के रुप में हुई है। सभी गाजियाबाद के रहने वाले हैं। डीसीपी राम गोपाल नाइक ने कहा, ‘सब-इंस्पेक्टर अरुण सिंधु को सूचना मिली थी कि हाशिम गैंग आनंद विहार आईएसबीटी (Anand Vihar ISBT) जा रही है, इसी के आधार पर पुलिस पहुंची और डीटीसी (DTC Bus) के हसनपुर डिपो (Hasanpur Depot) के नजदीक से गिरफ्तार कर लिया।’

सवारी बनकर ड्राइवर को लूटाः डीसीपी ने कहा, ‘पूछताछ के दौरान आरोपियों ने माना कि उन्होंने लोनी इलाके से एक शख्स का मोबाइल फोन छीना था। 1 नवंबर की शाम करीब साढ़े 7 बजे उन्होंने चोरी के मोबाइल से आनंद विहार से नोएडा सेक्टर-126 तक जाने के लिए कैब बुक की। तीनों आरोपी यात्री बनकर कैब में बैठ गए। इसके बाद उन्होंने ड्राइवर को पीटकर उसका मोबाइल और कैश लूट लिए।’

Hindi News Today, 22 November 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की अहम खबरों के लिए क्लिक करें

लूटी हुई कैब से कारोबारी को लूटाः पुलिस के मुताबिक, ‘लूटने के बाद बदमाश ड्राइवर को लोनी स्थित टीला गांव ले गए। वहां उसे नशा कराया और फिर उसके फोन पर आने वाली बुकिंग रिक्वेस्ट पर नजर रखी। पुणे के एक कारोबारी ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन (New Delhi Railway Station) से IGI एयरपोर्ट तक जाने के लिए कैब बुक की थी। कारोबारी आगरा से दिल्ली आए थे और फ्लाइट से पुणे (Delhi to Pune Flight) जा रहे थे। बदमाशों में से एक ने कैब ड्राइवर बनकर कार चलाई और कारोबारी को रेलवे स्टेशन से बैठा लिया। वहीं बाकी तीन दूसरी कार में उनका पीछा करते हुए आ गए।’

कारोबारी को लूटकर कश्मीरी गेट छोड़ गएः इसके बाद बदमाश कारोबारी को सुनसान जगह पर ले गया और उनसे 11 हजार रुपए, लैपटॉप और दो मोबाइल फोन लूट लिए। इसके बाद ये उन दोनों को भी उसी फ्लैट में ले गए। बाद में बदमाशों ने इनसे डेबिट-क्रेडिट कार्ड्स लिए और करीब 1 लाख 60 हजार रुपए निकालकर दोनों को कश्मीरी गेट (Kashmiri Gate) के पास छोड़ दिया। कैब का असली ड्राइवर 2 नवंबर को गाजियाबाद में मेरठ रोड पर बेहोश हालत में पाया गया। पुलिस ने बदमाशों के पास से तीन देशी तमंचे, आठ जिंदा कारतूस, एक कैब और 24 नशीली दवाइयों के साथ-साथ पांच मोबाइल फोन और लैपटॉप भी जब्त किए।

Next Stories
1 यूपी: 2 लड़कियों से गैंगरेप कर VIDEO किया वायरल, शिकायत के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप
2 VIDEO: विवाद सुलझाने पहुंचे DM ने युवक को जड़ा थप्पड़, सुरक्षाकर्मियों ने भी किये हाथ साफ
3 मां-बेटे को गोलियों से भून डाला था, 5 साल बाद 16 लोगों को आजीवन कारावास, घायल भाई की गवाही पर दर्ज हुआ था मुकदमा
ये पढ़ा क्या?
X