ताज़ा खबर
 

बड़ा हादसा: सड़क किनारे खड़े ट्रक से टकराई तेज रफ्तार बोलेरो, सात बच्चों सहित 14 लोगों की मौके पर ही मौत

पुलिस महानिरीक्षक (प्रयागराज रेंज) केपी सिंह ने बताया कि बोलेरो गाड़ी बहुत तेज गति से जा रही थी जिससे दुर्घटना होने पर वाहन का आधा हिस्सा ट्रक में जा घुसा। ये सभी लोग नवाबगंज थाना क्षेत्र से एक शादी समारोह से लौट रहे थे।

Author Edited By Sanjay Dubey प्रयागराज | Updated: November 21, 2020 4:46 AM
accidentसड़क दुर्घटना में तेज रफ्तार बोलेरो गाड़ी अनियंत्रित होकर सड़क किनारे खड़े ट्रक से टकरा गई।

उत्तर प्रदेश में प्रतापगढ़ जिले के देशराज इनारा के पास बीती रात करीब एक बजे एक भीषण सड़क हादसे में सात बच्चों सहित 14 लोगों की मौत हो गई। प्रतापगढ़ के पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि जिला मुख्यालय से करीब सत्तर किलोमीटर दूर प्रयागराज-लखनऊ राजमार्ग पर थाना मानिकपुर के देशराज इनारा के निकट हुई सड़क दुर्घटना में तेज रफ्तार बोलेरो गाड़ी अनियंत्रित होकर सड़क किनारे खड़े ट्रक से टकरा गई। हादसे में बोलेरो में सवार सात बच्चों सहित चौदह लोगों की मौत हो गई।

पुलिस ने शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए जिला चिकित्सालय भेजा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुर्घटना पर दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि यह हादसा बीती देर रात उस समय हुआ जब संबंधित लोग एक शादी में शामिल होकर लौट रहे थे।

पुलिस अधीक्षक आर्य ने बताया कि मृतकों में थाना कुंडा कोतवाली क्षेत्र के जिरगापुर गांव निवासी बबलू (22), दिनेश कुमार (40) व उसके बेटे पवन कुमार (10) और अमन कुमार (7), दयाराम (40), राम समुझ (42), गौरव (10), नान भैया (55), सचिन (12), हिमांशु (13), मिथलेश कुमार (17), अभिमन्यु (12), अंश (9) व बोलेरो चालक पारस नाथ (40) शामिल हैं।

दुर्घटना की सूचना पर पुलिस बल ने तत्काल घटनास्थल पर पहुंचकर राहत और बचाव अभियान शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि दुर्घटना इतनी भीषण थी कि बोलेरो गाड़ी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। हादसे में सभी की मौके पर ही मौत हो गई। दुर्घटनाग्रस्त बोलेरो से शवों को निकालने में लगभग दो घंटे का समय लगा।

आर्य ने कहा कि पांच शवों को तो तुरंत निकाल लिया गया लेकिन बाकी को निकालने के लिए जेसीबी मशीन मंगाई गई और ट्रक के नीचे फंसी बोलेरो को निकालने के बाद उसमें से बाकी शव निकाले गए। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मृतकों के परिजनों को सूचित कर दिया गया है तथा बोलेरो और ट्रक मालिक को पुलिस ने पूछताछ के लिए बुलाया है।

अवस्थी ने को बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रतापगढ़ हादसे पर दुख जताया है। मुख्यमंत्री ने वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर पहुंचने और पीड़ित परिवारों को हरसंभव सहायता प्रदान करने का निर्देश दिया है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने इस दुर्घटना में मारे गए लोगों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता दिए जाने के निर्देश दिए हैं।

वहीं, पुलिस महानिरीक्षक (प्रयागराज रेंज) केपी सिंह ने बताया कि बोलेरो गाड़ी बहुत तेज गति से जा रही थी जिससे दुर्घटना होने पर वाहन का आधा हिस्सा ट्रक में जा घुसा। ये सभी लोग नवाबगंज थाना क्षेत्र से एक शादी समारोह से लौट रहे थे। सिंह ने कहा कि परिवहन विभाग और भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के साथ मिलकर पुलिस ऐसे ‘ब्लैक स्पॉट’ पर होर्डिंग आदि लगाएगी जहां दुर्घटना होने की अधिक आशंका रहती है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस हादसे पर शुक्रवार को दुख जताया और पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट की। पार्टी की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका ने फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘उप्र के प्रतापगढ़ में हुए हृदयविदारक हादसे के बारे में सुनकर मन आहत हुआ है। बारात से लौटते वक्त एक दुर्भाग्यपूर्ण सड़क हादसे में बच्चों सहित 14 लोगों की मृत्यु हो गई।’ उन्होंने कहा, ‘पीड़ित परिवारों की व्यथा के बारे में सोचकर मेरा मन बहुत दुखी है। मैं सबके लिए प्रार्थना करती हूं। भगवान उन्हें यह दुख सहने की शक्ति दें।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 संपादकीय: कुंठा का चेहरा
2 SUV पर पेशाब करने से रोका तो वॉचमैन को जलाया, ऑटो रिक्शा चालक ने दिया घटना को अंजाम
3 AIMIM विधायक के घर हमला, हार के बाद सगा भाई और राजद नेता ही बना जान का दुश्मन, मां को भी नहीं बख्शा
यह पढ़ा क्या?
X