ताज़ा खबर
 

कर्नाटक: बेंगलुरु में भाजपा कार्यकर्ता की चाकू मार कर हत्या, परिवर्तन यात्रा की कर रहा था तैयारी

परिवर्तन यात्रा की तैयारी में जुटे भाजपा कार्यकर्ता पर चार लोगों ने हमला बोल दिया था। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

Author नई दिल्ली | February 1, 2018 16:36 pm
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव से पहले बेंगलुरु में भाजपा के एक कार्यकर्ता की चाकू मार कर हत्या कर दी गई। उसकी पहचान संतोष के तौर पर की गई है। जानकारी के मुताबिक, यह घटना बुधवार (31 जनवरी) की है। संतोष नॉर्थ बेंगलुरु के जेसी नगर के चिनप्पाा पार्क में भाजपा की परिवर्तन रैली के लिए झंडे लगा रहे थे। उसी वक्त चार लोगों से उनकी झड़प हो गई, जिसमें हमलावरों ने उन पर चाकुओं से हमला कर दिया था। सभी हमलावर नशे में धुत थे। पुलिस ने घटना की पुष्टि की है, लेकिन इसे राजनीति से प्रेरित होने से इनकार किया है। वहीं, भाजपा ने संतोष की हत्या को राजनीति से प्रेरित बताया है। पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों वसीम और फिलिप को गिरफ्तार किया है। संतोष शहर के वसंत नगर इलाके के रहने वाले थे और भाजपा युवा मोर्चा के सदस्य थे। भाजपा कार्यकर्ता की हत्या की घटना ऐसे समय सामने आई है जब राज्य में विधानसभा चुनाव की तैयारियां जोरों पर हैं।

भाजपा इन दिनों कर्नाटक में परिवर्तन यात्रा निकाल रही है। ‘द न्यूज मिनट’ के अनुसार, 4 फरवरी को बेंगलुरु में पार्टी की रैली होनी है। जेसी नगर थाने के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि दो अन्य आरोपी उमर और इरफान फरार हैं। उन्होंने बताया, ‘आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि संतोष ने चारों से शराब खरीदने को कहा था, जिससे वे खुश नहीं थे। इसको लेकर उनके बीच तीखी बहस हो गई, जिसमें संतोष पर चाकू से हमला कर दिया गया था।’ पुलिस ने भाजपा के दावों को सिरे से खारिज किया है। अधिकारियों ने बताया कि संतोष और चारों आरोपी पड़ोसी हैं। कर्नाटक में पिछले कुछ दिनों में कई हत्याएं हुई हैं। मंगलुरु में हमलावरों ने दीपक राव की हत्या कर दी थी। इसके प्रतिशोध में बशीर नामक एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई थी। उत्तर कन्नड़ के होन्नावर इलाके में परेश मेस्ता की हत्या कर दी गई थी। भाजपा नेताओं ने उसके पार्टी कार्यकर्ता होने का दावा किया था। हालांकि, परेश के पिता ने इस दावे को खारिज किया था। कर्नाटक की विपक्षी पार्टी ने हत्या से पहले परेश को शारीरिक यातना देने की भी बात कही थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसे भी खारिज किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App