ताज़ा खबर
 

बिहार के अस्पताल में महिला से छेड़छाड़ का मामला: प्रबंधन ने पहले आरोपी स्टाफ से झाड़ा पल्ला फिर मानी गलती, SSP, DM ने दिया जांच का भरोसा

अब इस पूरे मामले में भागलपुर पुलिस नींद से जाग गई है। पुलिस ने सोमवार रात ग्लोकल हॉस्पिटल में जांच की। सबूत की तलाश में सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले जा रहे हैं।

सांकेतिक तस्वीर। फोटो सोर्स- एक्सप्रेस अर्काइव

कोरोना के कहर के बीच विभिन्न अस्पतालों में लापरवाही की कहानियां खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। बिहार के एक कोरोना संक्रमित मरीज की पटना के राजेश्वर अस्पताल में मौत के बाद उनकी पत्नी ने अस्पतालों में चल रही कुव्यवस्था की पोल खोल कर रख दी थी। महिला के पति पेश से सॉफ्टवेयर इंजीनियर थे और पत्नी ने भागलपुर के ग्लोकल अस्पताल के स्टाफ तथा पटना के राजेश्वर अस्पताल के एक चिकित्सक पर गंदी हरकत करने का इल्जाम तक लगाया था। महिला ने सोशल मीडिया पर रो-रो कर अपनी दास्तान बताई थी और उनका वीडियो वायरल हो गया था।

स्टाफ को पहचानने से किया इनकार

इस मामले में हंगामा मचने के बाद अस्पताल प्रशासन की काफी किरकिरी हुई है। इधर भागलपुर के ग्लोकल अस्पताल के मैनेजर अमित कुमार ने तो अपने आरोपी स्टाफ ज्योति कुमार को पहचानने तक से इनकार कर दिया। दरअसल सोमवार की शाम 7 बजे तक तो अस्पताल प्रबंधन यह कहता रहा कि उनके यहां छेड़खानी की कोई घटना भी नहीं हुई है और आरोपी अस्पताल स्टाफ ज्योति उनका स्टाफ भी नहीं है। हालांकि, अस्पताल की पोल-पट्टी खुलने के बाद रात करीब 9.25 मिनट पर अस्पताल प्रशासन ने माना कि ज्योति अस्पताल में ही कार्यरत है। सवालों से घिरे अस्पताल प्रबंधन ने इस मामले की जांच के लिए कमेटी बनाने की बात भी कही है।

ग्लोकल अस्पताल में महिला से गंदी हरकत

आपको बता दें कि कोरोना से पीड़ित युवक को ग्लोकल अस्पताल में उनकी पत्नी ने 17 अप्रैल को भर्ती कराया था। महिला का कहना था कि ज्योति इस अस्पताल में बतौर कम्पाउंडर तैनात है। महिला का आरोप है कि मौका पाकर ज्योति ने उनका दुपट्टा खींचा और गलत हरकत करने की कोशिश की थी।

मायागंज अस्पताल में लापरवाही

महिला ने आगे बताया था कि अपनी आबरू बचाकर वो अपने बीमार पति को लेकर मायागंज अस्पताल गईं। लेकिन यहां भी लापरवाही की हद हो गई। आईसीयू में भर्ती उनके पति को ऑक्सीजन पाइप लगाई गई थी। रात में जब ऑक्सीजन पाइप अचानक हट गया तो उन्होंने इसकी शिकायत रात के वक्त वहां ड्यूटी में तैनात चिकित्सकों से की थी। लेकिन मरीज को देखे के बजाए वहां चिकित्सक ड्यूटी रूम में मोबाइल पर वीडियो देख रहे थे। काफी मिन्नतों के बाद महिला के पति को ऑक्सीजन पाइप दोबारा लगाया गया था।

पटना के अस्पताल में डॉक्टर की गंदी नीयत

इसके बाद महिला ने यहां से अपने पति को निकाल कर पटना के चर्चित राजेश्वर अस्पताल में एडमिट कराया। महिला ने राजेश्वर अस्पताल के चिकित्सक अखिलेश पर भी उनके साथ छेड़खानी करने का आरोप लगाया था।  बहरहाल अब इस पूरे मामले में भागलपुर पुलिस नींद से जाग गई है। पुलिस ने सोमवार रात ग्लोकल हॉस्पिटल में जांच की। सबूत की तलाश में सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले जा रहे हैं।

महिला का वीडियो वायरल होने के बाद डीएम सुब्रत कुमार सैन और एसएसपी निताशा गुड़िया ने आश्वसन दिया है कि महिला से पूरे मामले की जानकारी लेकर ना सिर्फ एफआईआऱ दर्ज कराई जाएगी बल्कि दोषी पाए जाने पर अस्पताल प्रबंधन पर कार्रवाई भी होगी।

Next Stories
1 नदी पार कर जाते थे स्कूल, उधार लेकर की थी UPSC की तैयारी; वीर प्रताप सिंह के IAS बनने की कहानी
2 मुस्लिम धर्मगुरु के जनाजे में उमड़ा जनसैलाब, कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाने पर केस दर्ज
3 आफत! नोएडा में मिले सैकड़ों नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन तो दिल्ली में ऑक्सीजन के लिए महिला से ठगी
ये  पढ़ा क्या?
X