ताज़ा खबर
 

अरुण कुमार सिन्हा: पटना में चोरी, डकैती की धाराओं में दर्ज हुए केस, BJP ने कुम्हरार से बनाया है प्रत्याशी

यहां आपको यह भी बता दें कि कुम्हरार के भाजपा विधायक अरुण कुमार सिन्हा की कोरोना रिपोर्ट भी हाल ही में पॉजीटिव आई है।

bihar, bihar election 2020अरुण कुमार सिन्हा कोरोना रिपोर्ट भी पॉजीटिव आई है। फोटो सोर्स – सोशल मीडिया

बिहार के विधानसभा चुनाव में कई ऐसे प्रत्याशी भी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं जिनपर आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। ऐसे प्रत्याशियों को टिकट थमान में कोई भी पार्टी पीछे नहीं है। आज हम बात कर रहे हैं भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रत्याशी अरुण कुमार सिन्हा की। पटना के चर्चित कुम्हरार सीट से पार्टी ने अपने मौजूदा विधायक अरुण कुमार सिन्हा को फिर से टिकट थमाया है।

भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी अरुण कुमार सिन्हा पर राजेंद्र नगर पुलिस स्टेशन में 1 केस चोरी की धारा में  केस दर्ज हुआ था हालांकि उनपर कोई चार्ज फ्रेम नहीं हुआ था। myneta.info के मुताबिक उनपर डकैती की धारा में भी केस दर्ज हुआ था और इस केस में भी कोई चार्ज फ्रेम नहीं हुआ।  साल 2019 में अरुण सिन्हा ने नागरिक संशोधन बिल के समर्थन में पटना में पदयात्रा निकाली थी। प्रतिबंधित क्षेत्र में पदयात्रा निकालने के आरोप में उनपर कातोवाली थाने में केस दर्ज हुआ था। साल 2018 में भाजपा विधायक अरुण कुमार सिन्हा के पूर्वी लोहानीपुर स्थित अपार्टमेंट रामविलास इन्क्लेव के फ्लैट नंबर -101 में चोरी भी हुई थी। हालांकि किसी भी केस में अरुण कुमार सिन्हा अभी तक दोषी नहीं ठहराए गए हैं।

यहां आपको यह भी बता दें कि कुम्हरार के भाजपा विधायक अरुण कुमार सिन्हा की कोरोना रिपोर्ट भी हाल ही में पॉजीटिव आई है। 27 अक्टूबर को उनका कोरोना सैंपल लिया गया था जिसके बाद उनकी रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। कहा जाता है कि अरुण कुमार सिन्हा ने साल 1980 से राजनीति में कदम रखा था। मार्च 2005 से वो लगातार बिहार विधान सभा के सदस्य हैं।

लगातार तीन बार यानी 2005, 2010 और 2015 में ये अपनी सीट पर जीत हासिल करने में कामयाब रहे हैं। बिहार विधान सभा के सत्तारूढ़ दल के सम्प्रति उप मुख्य सचेतक के रूप में और बिहार विधान सभा के मुख्य विपक्षी दल के मुख्य सचेतक के रूप में भी उन्होंने काम किया है।

राजनीति के जानकारों की मानें तो इस बार कुम्हरार विधानसभा सीट पर कड़ी टक्कर देखने को मिल सकती है। हालांकि वर्तमान विधायक अरुण कुमार सिन्हा क्षेत्र के कद्दावर नेता हैं और उन्होंने 2015 में यह सीट काफी बड़े अंतर से जीती थी। पिछली बार जहां आरजेडी और जेडीयू साथ में लड़ रहे थे, वहीं 2020 में एक बार फिर से नीतीश की पार्टी बीजेपी के साथ आ गई है।

बिहार में 28 अक्टूबर से विधानसभा चुनावों के लिए मतदान हो रहे हैं। 3 नवंबर और 7 नवंबर को क्रमश: दूसरे और तीसरे चरण के लिए वोटिंग होगी। जबकि नतीजे 10 नवंबर को आएंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली पुलिस: 42 महीनों में 14 कर्मियों ने ऑन-ड्यूटी कर ली सुसाइड, अब सब-इंस्पेक्टर की भी घर में मिली लाश
2 महाराष्ट्र: गंजे होने की बात छिपाई, 27 साल की चाटर्ड अकाउन्टेंट पत्नी ने पति पर किया केस
3 बिहार: पप्पू यादव के बाद CM उम्मीदवार पुष्पम प्रिया के प्रत्याशी पर सीवान में हमला, आंख क्षतिग्रस्त
यह पढ़ा क्या?
X