ताज़ा खबर
 

MP: पानी को लेकर हुआ विवाद तो महिला को केरोसिन डालकर जिंदा जला दिया; आरोपी सास-ससुर और देवर फरार

आरोपी पक्ष द्वारा पीड़ित पक्ष को नल से पानी नहीं भरने दिया जा रहा था। वहीं, सेप्टिक टैंक का उपयोग पीड़ित पक्ष के द्वारा आरोपी पक्ष को नहीं करने दिया जा रहा था। इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद था।

Author बैतूल | July 19, 2019 4:43 AM
प्रतीकात्मक फोटो फोटो सोर्स- जनसत्ता

मध्य प्रदेश के बैतूल से एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। जहां बडोरा में पानी भरने को लेकर हुए मामूली विवाद में एक महिला को उसी के ससुराल वालों ने कथित रूप से केरोसिन डालकर जिंदा जला दिया। महिला 80 से 85 प्रतिशत जल गई और उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। पीड़िता ने अपने ससुर, सास, और दोनों देवरों पर जिंदा जलाने का आरोप लगाया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। फरार आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

बैतूल बाजार थाना प्रभारी भैयालाल उइके ने बताया कि बडोरा स्थित कृष्णा नगर निवासी द्वारका बाई (40) को आज सुबह केरोसिन डालकर जिंदा जला दिया गया। उन्होंने बताया कि घटना के तुरंत बाद उसे गंभीर हालत में इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से उसे भोपाल रेफर किया गया।थाना प्रभारी ने आगे बताया कि पीड़ित महिला ने अपने ससुर भादिया साहू, सास रामरति बाई, देवरानी लल्ली बाई साहू, देवर राजेंद्र साहू एवं भोला साहू पर उसे जिंदा जलाने का आरोप लगाया है। शिकायत के आधार पर उपरोक्त सभी आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 307 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

थाना प्रभारी भैयालाल ने बताया कि सूचना मिलने पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और मामले का जायजा लिया। जानकारी के मुताबिक, पीड़ित महिला और आरोपी पक्ष के लोग एक साथ रहते थे। कुछ महीने पहले ही वे अलग हो गए। पीड़ित के हिस्से में सेप्टिक टैंक आया और आरोपी पक्ष के हिस्से में पानी का नल आया। उन्होंने कहा कि आरोपी पक्ष द्वारा पीड़ित पक्ष को नल से पानी नहीं भरने दिया जा रहा था। वहीं, सेप्टिक टैंक का उपयोग पीड़ित पक्ष के द्वारा आरोपी पक्ष को नहीं करने दिया जा रहा था। इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद था। गुरुवार सुबह जब महिला पानी भरने के लिए नल पर गई तो दोनों पक्षों में इसको लेकर विवाद हो गया। इतने में ही द्वारका बाई को आरोपियों ने केरोसिन डालकर जिंदा जला दिया, जिससे वह बुरी तरह से झुलस गई।

पुलिस ने बताया कि जब आरोपियों ने वारदात को अंजाम दिया, उस समय पीड़ित महिला के पति राजू साहू और उनके बच्चों को आरोपियों ने घर के अंदर बंद कर दिया था। जैसे-तैसे वह बाहर निकले। इसी बीच, पीड़ित महिला के पति राजू साहू ने बताया कि घर के बाहर निकलते ही उसने अपने बच्चों के साथ मिलकर अपनी पत्नी को बचाने का प्रयास किया, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। वह गंभीर रूप से झुलस चुकी थी। वहीं, पीड़ित महिला की बेटी ने बताया कि उसकी मां नल पर पानी भर रही थी। इस दौरान विवाद हो गया और उसे मिट्टी का तेल डालकर जला दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App