ताज़ा खबर
 

KERALA: प्रेमी से करना चाहती थी शादी BDS स्टूडेंट, घर वालों ने पहुंचा दिया पागलखाने

पिछले एक महीने में उसे दो बार मानसिक अस्पताल में भर्ती कराया गया। युवक के बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर केरल हाईकोर्ट के आदेश के बाद उसे मुक्त किया गया।

Author तिरुवनंतपुरम | Published on: December 9, 2019 5:07 PM
केरल हाईकोर्ट प्रतीकात्मक तस्वीर

केरल की 27 वर्षीय एक छात्रा ने आरोप लगाया कि उसके परिवार वालों ने उसको जबरन मानसिक रोग अस्पताल में भर्ती करा दिया था। उसका कहना है कि वह जिस युवक से शादी करना चाहती है उससे परिवार वाले रोकना चाहते हैं। पिछले एक महीने में उसे दो बार मानसिक अस्पताल में भर्ती कराया गया। युवक के बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर केरल हाईकोर्ट के आदेश के बाद उसे मुक्त किया गया। कोर्ट ने कहा कि वह शादी के लिए स्वतंत्र है। यह भी निर्देश दिया है कि उसके परिवार वालों के खिलाफ के केस दर्ज किया जाए। परिजनों ने कथित रूप से डॉक्टरों से कहा कि वह पागल हो गई है और खुदकुशी जैसी हरकत कर रही है।

छात्रा कर रही बीडीएस कोर्स : वह बीडीएस कोर्स कर रही है और युवक व्यापारी है। उनका परिवार कथित तौर पर दोनों के सोशल स्टेटस में अंतर की वजह से शादी के खिलाफ है। छात्रा ने आरोप लगाया कि उसके परिवार के सदस्यों की मौजूदगी में तीन नवंबर को दवा देने के बाद तीन लोग उसे घर से ले गए। उसने बताया, “जब मुझे होश आया, तो मैंने खुद को अस्पताल के बिस्तर से बंधा पाया। खुद को मानसिक रोगियों के बीच देखकर मैं हैरान थी।”

Karnataka Athani, Kagwad, Gokak, Yellapur By-Election Results 2019 LIVE Updates: कर्नाटक उप-चुनाव के नतीजे देखने के लिए यहां क्लिक करें

अस्पताल में बताया गया कि वह खुदकुशी जैसी हरकत कर रही :उसके परिवार को बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका के बारे में जब पता चला तो वे उसे दूसरे अस्पताल में भर्ती करा दिए। अस्पताल के प्रशासक ने कहा, “उसे यहां उसके भाई और पिता लेकर आए थे। उन लोगों ने कहा था कि वह खुदकुशी जैसी हरकत कर रही है। अस्पताल में इसी का इलाज चल रहा था। ”

Hindi News Today, 09 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

सोशल स्टेटस को लेकर पहले भी विवाद हुए हैं  : सोशल स्टेटस को लेकर शादी से रोकने के पहले भी कई मामले आए हैं। समाज में इस तरह के प्रतिबंध से कई बार विवाद की स्थितियां बनती रही हैं। इसके अलावा जाति को लेकर भी कई बार भेदभाव किए जाने की घटनाएं सामने आ चुकी हैं। हालांकि अब समाज में ऐसे भेदभाव को लेकर लोगों में जागरूकता भी आई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 UP: फर्जी मार्कशीट से पासपोर्ट बनाने वाले रैकेट का भंडाफोड़, 2 होमगार्ड समेत 10 पकड़े गए, 2 कांस्टेबल निलंबित
2 UP: देर से पहुंची बारात तो भड़क उठे लड़की पक्ष वाले, दूल्हे समेत बारातियों को अर्धनग्‍न कर पीटा; जमकर हुआ बवाल
3 Stubble Burning: किसान ने जहर खाकर लगाया मौत को गले; पराली जलाने के केस को वापस लेने की कर रहा था मांग
ये पढ़ा क्या?
X