ताज़ा खबर
 

कैदियों ने प्राइवेट पार्ट में छिपा रखा था मोबाइल और ड्रग्स, डॉक्टरों ने पकड़ा तो रह गए हैरान

अस्पताल में कैदियों की अच्छी तरह से जांच-पड़ताल करने के बाद चिकित्सक भी हैरान रह गए। चिकित्सकों ने जांच कर बताया कि एक कैदी ने अपने प्राइवेट पार्ट में ड्रग्स के पाउच अंदर डाल रखे थे जिसे निकाल लिया गया है

Author Updated: September 18, 2019 2:37 PM
कैदी के प्राइवेट पार्ट से ड्रग्स के पैकेट निकाले गए। प्रतीकात्मक तस्वीर।

जेल में बंद इन कैदियों ने पुलिस की आंखों में धूल झोंककर अपने प्राइवेट पार्ट में मोबाइल फोन और ड्रग्स डाल लिया था। लेकिन शायद इन कैदियों को जरा भी अनुमान नहीं था कि उनकी यह चालबाजी ना सिर्फ उनपर भारी पड़ जाएगी बल्कि वो कानून की नजरों से भी अपनी इस चालाकी को ज्यादा दिनों तक छिपा नहीं पाएंगे। यह मामला उत्तर प्रदेश के बागपत जिला जेल का है। बीते सोमवार (16 सिंतबर, 2019) को बागपत जेल के 2 कैदियों ने पेट में तेज दर्द की शिकायत की जिसके बाद उन्हें जेल प्रशासन ने अस्पताल में भर्ती कराया।

दरअसल जेल के दो कैदी जब शौच के लिए गए थे तो उन्हें उसी वक्त तेज दर्द होने लगा और उन्हें शौच भी नहीं हुआ। शुरू में जेल के डॉक्टरों को यह बात उतनी गंभीर नहीं लगी और उन्होंने दोनों कैदियों को दवा दे दिया। लेकिन दवा से भी इन कैदियों को कोई राहत नहीं मिली जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया।

अस्पताल में कैदियों की अच्छी तरह से जांच-पड़ताल करने के बाद चिकित्सक भी हैरान रह गए। चिकित्सकों ने जांच कर बताया कि एक कैदी ने अपने प्राइवेट पार्ट में ड्रग्स के पाउच अंदर डाल रखे थे जिसे निकाल लिया गया है। यह कैदी गाजियाबाद के लोनी का रहने वाला बताया जा रहा है। वहीं दूसरे कैदी ने अपने प्राइवेट पार्ट में मोबाइल फोन डाल लिया था। चिकित्सकों का कहना है कि जरुरत पड़ी तो मोबाइल फोन को निकालने के लिए सर्जरी की जाएगी।

इधर इस पूरे मामले पर पुलिस का कहना है कि यह दोनों सोमवार को अदालत में पेशी के लिए गए हुए थे। बाहर निकलते वक्त इनके परिजनों ने इनसे मुलाकात की थी और अंदेशा है कि उन्होंने ही इन्हें मोबाइल और ड्रग्स दिया था। पुलिस से बचने के लिए इन दोनों ने इन सामानों को अपने प्राइवेट पार्ट में डाल लिया। यह दोनों सामान इनके शरीर में फंस गए जिसकी वजह से इन्हें तेज दर्द हुई और फिर अस्पताल में इनकी पोल-पट्टी खुल गई।

यहां आपको याद दिला दें कि कुछ ही दिनों पहले दिल्ली की तिहाड़ जेल से भी एक ऐसी ही खबर आई थी। यहां एक कैदी ने मोबाइल, चार्जर और सिम कार्ड अपने शरीर में छिपा रखे थे। पेट में दर्द होने के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां चिकित्सकों ने यह सामान उसके शरीर से बरामद किया गया था। (और…CRIME NEWS)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 उत्तर प्रदेश: Video बना किया पत्नी का मर्डर, फिर सोशल मीडिया पर किया वायरल, खुद भी पंखे से लटक दे दी जान
2 यूपी: मां ने काटा हाथ बेटे ने उड़ा दी गर्दन, सरकारी नौकरी पाने की खातिर पिता के 3 टुकड़े किये
3 आधी रात तीन मुस्लिम बहनों को उठा ले गई पुलिस, चौकी में कपड़े फाड़कर पीटने का आरोप; भाई पर हिंदू महिला को अगवा करने का इल्जाम