ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश: स्कूल जाती लड़की को एसयूवी में अगवा कर गैंगरेप, अब प्रिंसिपल ने लगाई क्लास करने पर रोक

स्कूल के प्रिंसिपल ने आरोपों को दरकिनार करते हुए दावा किया, ‘‘जब तक मामला सुलझ नहीं जाता, तब तक छात्रा से घर पर ही रहने को कहा था। मैं राज्य सरकार से संबद्धित स्कूल नहीं चला रहा हूं। यह एक प्राइवेट कोचिंग सेंटर है, जिसमें सुविधाओं की भी कमी है।

Author आजमगढ़ | Updated: September 24, 2019 8:25 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में एक छात्रा से उस वक्त गैंगरेप किया गया, जब वह स्कूल जा रही थी। बताया जा रहा है कि 2 लोगों ने उसे एसयूवी में अगवा कर लिया और वारदात को अंजाम दिया। इसके बाद स्कूल प्रिंसिपल ने उसके क्लास अटेंड करने पर रोक लगा दी। आजमगढ़ के जिला मैजिस्ट्रेट ने स्कूल के फैसले की जांच कराने का आदेश दिया है। वहीं, पुलिस ने सोमवार (23 सितंबर) को यौन उत्पीड़न के आरोप में 2 लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

19 सितंबर को हुई थी वारदात: जानकारी के मुताबिक, 19 सितंबर को छात्रा जब स्कूल जा रही थी, 2 लोगों ने उसे एसयूवी में खींच लिया। परिजनों ने इस मामले में 3 दिन बाद एफआईआर दर्ज कराई। हालांकि, स्कूल के प्रिंसिपल ने खुद पर लगाए गए आरोपों को खारिज किया। उन्होंने दावा किया, ‘‘जब तक मामला सुलझ नहीं जाता, तब तक छात्रा से घर पर ही रहने को कहा था। मैं राज्य सरकार से संबद्धित स्कूल नहीं चला रहा हूं। यह एक प्राइवेट कोचिंग सेंटर है, जिसमें सुविधाओं की भी कमी है।’’

अटेंडेंस रजिस्टर नहीं दिखा पाया स्कूल: एसडीएम प्रियंका ने बताया, ‘‘स्कूल प्रिंसिपल किसी भी बच्चों को स्कूल से निकालने के आरोपों को खारिज कर रहे हैं, लेकिन अटेंडेंस रजिस्टर नहीं दिखा पाए। मैं मंगलवार (24 सितंबर) को स्कूल का दौरा करूंगी। हमने प्रिसिंपल को रजिस्टर व सभी संबंधित डॉक्युमेंट्स पेश करने के लिए अल्टीमेटम दिया है। वहीं, कोचिंग सेंटर और स्कूल न होना जांच का हिस्सा है।’’

पीड़िता को सुनसान जगह पर छोड़कर भाग गए थे बदमाश: स्थानीय लोगों ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, ‘‘19 सितंबर की सुबह छात्रा जब स्कूल जा रही थी, 2 लोगों ने उसे जबरन एसयूवी में खींच लिया। आरोपियों ने उसका यौन उत्पीड़न किया और सुनसान जगह पर छोड़कर फरार हो गए। पीड़िता किसी तरह देसी शराब की दुकान पर पहुंची और शोर मचाया। जिस वक्त छात्रा को स्कूल ले जाया गया, उसके कपड़े खून में सने हुए थे। पुलिस को सूचना देने की जगह प्रिंसिपल ने छात्रा के पैरेंट्स को बुलाया और उन्हें छात्रा का नाम स्कूल से हटाने की जानकारी दी।’’

दोनों आरोपी गिरफ्तार: एसपी आजमगढ़ त्रिवेणी सिंह ने बताया कि पीड़िता के पिता की शिकायत पर रविवार को 2 आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया। साथ ही, अगले ही दिन उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों सिकंदर और ऋषि कपूर के खिलाफ आईपीसी की धारा 376-डी, 504, 506 और पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। एसएचओ शेर सिंह तोमर ने बताया कि सिकंदर ड्राइवरी करता है, जबकि कपूर मोबाइल शॉप संचालक है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 डिफेंस स्टाफ को कम दाम पर मिलने वाली महंगी दवाओं की ब्लैक मार्केटिंग, Online Sell करते थे बदमाश
2 बस कंडक्टर ने दिया 10 रुपए का सिक्का तो गुस्साए यात्री ने घोंप दिया चाकू, खून से सन गई गर्दन और छाती
3 बेटी होने से खुश पिता PM आवास के पास चला रहा था पटाखे, सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन बता पकड़ा
IPL 2020 LIVE
X