ताज़ा खबर
 

Atlas साइकिल मालिक की पत्नी का शव फंखे से लटका मिला, मौके से सुसाइड नोट बरामद

एटलस साइकिल्स की मालकिन नताश कपूर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। एक सुसाइड नोट छोड़ा है जिसमें उन्होंने अपने परिवार को खुद की देखभाल करने के लिए कहा है।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

साइकिल निर्माता एटलस साइकिल्स के मालिक संजय कपूर की पत्नी नताश कपूर (57) ने मंगलवार दोपहर औरंगजेब लेन इलाके में अपने घर पर कथित रूप से आत्महत्या कर ली। दिल्ली पुलिस ने उनकी मौत की खबर सार्वजनिक की और कहा कि यह मामला आत्महत्या का केस लगता है इसलिए इस मौत को संदिग्ध माना जा रहा है।

पंखे से लटका मिला शव: नताश कपूर को उनके परिवार ने मंगलवार (21 जनवरी) को उनके बेडरूम में छत के पंखे से लटका पाया। जब नताश दोपहर के भोजन के लिए नहीं दिखी, तो परिवारवालों ने उनकी तलाश शुरू कर दी। उनके बेटे सिद्धांत कपूर ने उन्हें कॉल किया लेकिन उनका कोई जवाब नहीं आया। अंत में उन्हें बेडरुम में पंखे से लटका हुआ पाया। इसके बाद डॉक्टर को कॉल कर घर बुलाया गया। डॉक्टरों ने नाताश को मृत घोषित कर दिया।

Hindi News Live Hindi Samachar 23 January 2020: देश की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

पुलिस को शक वित्तीय मकसद हो सकता है: दिल्ली पुलिस के सूत्रों के अनुसार, नताश कपूर ने एक सुसाइड नोट छोड़ा है जिसमें उन्होंने अपने परिवार को खुद की देखभाल करने के लिए कहा और उन्होंने लिखा है कि वह ऐसा कदम उठा रही है क्योंकि वह अपने जीवन से बहुत ज्यादा दुखी है। हालांकि पुलिस को संदेह है कि कथित आत्महत्या के पीछे एक वित्तीय मकसद भी हो सकता है। इसकी जांच पुलिस कर रही है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से होगा खुलासा: वर्तमान में पुलिस नताश की मौत को संदिग्ध मानते हुए सभी पहलुओं पर जांच कर रही है। नताश का पोस्टमार्टम गंगा राम अस्पताल में किया गया, जिसके बाद उनका शव उनके परिवार को सौंप दिया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट जो उनकी मौत का कारण निर्धारित करेगा, वही माना जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Mumbai में खौफनाक मर्डरः नाक और जबड़ा तोड़ कर दी हत्या, हाथ-पैर बांध बोरी में भर दी लाश
2 स्कूटी की नंबर प्लेट से चला रहे थे टैक्सी, MCD टोल टैक्स से बचने के लिए बदमाशों ने किया कारनामा
3 हड्डियों के डॉक्टर से बनवाया आंखों से दिव्यांग होने का सर्टिफिकेट, दूसरे कागजों में घुसाया पेपर और CMO से भी करा लिए हस्ताक्षर
ये पढ़ा क्या?
X