Andrei Chikatilo, Who gave The painful death more than 50 women, was done with the corpse of rape, then used to cut off the Private parts - 50 से ज्यादा महिलाओं को दी दर्दनाक मौत, लाश के साथ करता था दुष्कर्म, फिर काट लेता था अंग - Jansatta
ताज़ा खबर
 

50 से ज्यादा महिलाओं को दी दर्दनाक मौत, लाश के साथ करता था दुष्कर्म, फिर काट लेता था अंग

कत्ल करने के बाद वह महिलाओं के शव के साथ शारीरिक संबंध था और बाद में हथौड़ी या पेचकस से उनकी आंखे निकल लेता था।

आंद्रेई शिकाटिलो ने अपना पहला शिकार एक 17 साल की लड़की को बनाया था।

आज आपको ऐसे सीरियल किलर के बारे में बता रहे हैं जिसके सामने बड़े से बड़ा जुर्म भी छोटा लगेगा। हम बात कर रहे हैं आंद्रेई शिकाटिलो की। रुस के कुख्यात सीरियल किलर आंद्रेई शिकाटिलो एक ऐसा खतरनाक कातिल है जिसने सारी हैवानियत की सारी हदों को पार किया है। शिकाटिलो ने 56 से ज्यादा महिलाओं को शिकार बनाया है। आंद्रेई शिकाटिलो महिलाओं की हत्या कर उनकी लाश के साथ संबंध बनाता था, फिर आंखें निकाल कर उनका प्राइवेट पार्ट काट देता था।

सोवियत रूस के यूक्रेन में आंद्रेई शिकाटिलो का जन्म 16 अक्टूबर, 1936 को हुआ था। पेशे से एक टीचर इस सीरियल किलर को बुचर ऑफ रोस्तोव, दी रेड रीपर, दी रोस्तोव रीपर के नाम से भी जाना जाता था था। शिकाटिलो की हैवानियत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वो लोगों की हत्या करने के बाद उनके शव के साथ भी काफी बर्बरता करता था। साल 1978 से 1990 के बीच उसने तकरीबन 56 से ज्यादा लोगों को अपना शिकार बनाया है।

शिकाटिलो अधिक्तर महिलाओं को ही अपना शिकार बनाता था। ड्रग्स के बहाने से बेहला-फुसलाकर उन्हें अपने जाल में फंसाता था। इसके बाद बड़ी ही बेरहमी से उनका कत्ल करता था। शिकाटिलो महिलाओं को मारने से पहले उनके सभी कपड़े उतारकर हाथ-पैर बांध देता था। कत्ल करने के बाद वह महिलाओं के शव के साथ शारीरिक संबंध था और बाद में हथौड़ी या पेचकस से उनकी आंखे निकल लेता था। इतना करने के बाद भी उसका मन नहीं मानता था, आंद्रेई शिकाटिलो आखिर में महिलाओं के प्राइवेट पार्ट काट देता था।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो आंद्रेई शिकाटिलो ने अपना पहला शिकार एक 17 साल की लड़की को बनाया था। सन् 1990 में जब शिकाटिलो को गिरफ्तार किया था तो पहले उसने अपना जुर्म कबूल नहीं किया था। लेकिन तहकीकात के बाद उसकी हैवानियत का सच सामने आ गया था।

आंद्रेई शिकाटिलो नाम के इस खतरनाक कातिल का अंत भी सबसे अलग था। 14 फरवरी 1994 को शिकाटिलो के सिर में गोली मारकर उसके गुनाहों की सजा दी गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App