ताज़ा खबर
 

Amethi: पुलिस कस्टडी में युवक की मौत, SP बोले- 26 लाख रुपए लूट का मुख्य अभियुक्त था मृतक, आरोपी पुलिसवालों पर FIR दर्ज

Amethi Man Dies in UP Police Custody: सुल्तानपुर के पुलिस अधीक्षक हिमांशु कुमार के निर्देश पर शहर कोतवाली में एसओजी अमेठी और पीपरपुर पुलिस के संबंधित अफसरों और कर्मियों के खिलाफ धारा 302 समेत कई मामलों में एफआईआर दर्ज की है।

Author अमेठी | Published on: October 31, 2019 5:23 AM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

Uttar Pradesh, Amethi Police: उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले के पीपरपुर क्षेत्र में लूट के एक आरोपी की पुलिस हिरासत में हुई मौत को लेकर उठे विवाद के बीच पुलिस ने बुधवार को लूट के तीन अभियुक्तों की गिरफ्तारी का दावा करते हुए कहा कि अभिरक्षा में मृत कारोबारी ही इस घटना का मुख्य अभियुक्त था। पुलिस अधीक्षक ख्याति गर्ग ने बताया कि पीपरपुर थाना क्षेत्र में गत पांच अक्टूबर को बैंक कर्मचारी से हुई 26 लाख रुपये की लूट की घटना को अंजाम देने वाले तीन बदमाशों जाकिर, अनीस और साजिद को गिरफ्तार करके उनसे लूट के तीन लाख 50 हजार रूपये बरामद किये गये हैं।

अमेठी की एसपी का बयान: एसपी ने बताया कि अभियुक्तों से पूछताछ में पता चला है कि वारदात का मास्टरमाइंड सत्य प्रकाश उर्फ साजन शुक्ला था, जिसकी सोमवार देर रात संदिग्ध हालात में पुलिस की हिरासत में मौत हो गयी थी। ख्याति ने बताया कि सत्य प्रकाश शुक्ल की बनायी गयी योजना के मुताबिक, इन तीनों अभियुक्तों ने पांच अक्टूबर को चौधरी चरण सिंह इंटर कॉलेज के पास यूको बैंक की भादर शाखा के प्रबन्धक मुनीष कुमार गौतम और उनके सहकर्मी अंशु सिंह की गाड़ी का शीशा तोड़कर और गोलियां चलाकर आतंकित किया और 26 लाख रुपये लूट लिये थे। ये रुपये भादर शाखा में जमा किये जाने थे। पकड़े गये तीनों अभियुक्त प्रतापगढ़ जिले के निवासी हैं। उन्हें जेल भेज दिया गया है।

क्या था मामला: गौरतलब है कि अमेठी जिले के पीपरपुर क्षेत्र में हाल में हुई बैंक कर्मचारी से 26 लाख रुपये की लूट के मामले में पूछताछ के मकसद से पुलिस तथा स्पेशल आपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने सत्य प्रकाश शुक्ला (50) तथा उनके बेटों को 28/29 अक्टूबर की रात करीब दो बजे घर से हिरासत में लिया था। इसी दौरान संदिग्ध परिस्थितियों में उसकी मौत हो गयी थी। शुक्ला के परिजन ने बताया कि पुलिस ने उसे बेहद प्रताड़ित किया और जहर खिला दिया जिससे उसकी मौत हो गयी। वहीं पुलिस के मुताबिक सत्य प्रकाश ने पुलिस की दबिश के दौरान घर में ही जहर खा लिया था।

पुलिसवालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज: इस बारे में शिकायत किये जाने पर सुल्तानपुर के पुलिस अधीक्षक हिमांशु कुमार के निर्देश पर शहर कोतवाली में एसओजी अमेठी और पीपरपुर पुलिस के संबंधित अफसरों और र्किमयों के खिलाफ धारा 302 (हत्या), 392 (लूट के लिये दण्ड), 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान करना), 452 (बिना अनुमति घर में घुसना, चोट पहुंचाने के लिए हमले की तैयारी) मुकदमा दर्ज किया गया है।

मामले की जांच शुरू: जिलाधिकारी प्रशांत शर्मा ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए मजिस्ट्रेट से जांच के आदेश दे दिये गये हैं। पूरे मामले की जांच अमेठी के उप जिला मजिस्टेट योगेन्द्र कुमार सिंह करेंगे। पुलिस अधीक्षक ख्याति गर्ग ने बताया कि उपरोक्त घटना की उच्च स्तरीय विभागीय जांच के आदेश दे दिये गये हैं। अमेठी के अपर पुलिस अधीक्षक दयाराम को जांच सौपी गयी है।

Next Stories
1 Tripura: पुलिसवाले जबरन अस्पताल से खींचकर थाने लाए, फिर पत्नी संग जमकर पीटा; पूर्व PWD मंत्री का आरोप
2 Noida: नाले में प्रॉपर्टी डीलर का शव मिलने से हड़कंप, क्रेन की मदद से कार समेत डेड बॉडी को निकाला गया बाहर
3 Delhi: महिला और पुरुष भिखारियों ने मिलकर की बच्चा चोरी की कोशिश, लोगों ने पकड़कर किया पुलिस के हवाले
ये पढ़ा क्या?
X