ताज़ा खबर
 

AIIMS के चिकित्सकों का आरोप, ‘पुलिस ने कोरोना वायरस फैलाने का आरोप लगाया और मार कर हाथ तोड़ दिये’

Coronavirus, Covid-19, Misbehave With AIIMS Doctors: चिकित्सकों का कहना है कि अपना पहचान पत्र दिखाए जाने के बाद पुलिस ने ना सिर्फ उनके साथ मारपीट की बल्कि उन्हें गालियां दी और उनपर कोरोना वायरस फैलाने का आरोप लगाया।

आरोप है कि महिला चिकित्सक की भी पिटाई की गई है। प्रतीकात्मक तस्वीर।

Coronavirus, Covid-19, Misbehave With AIIMS Doctors: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा अलग-अलग राज्यों की सरकारें कई बार कह चुकी हैं कि कोरोना संक्रमण की लड़ाई में अग्रणी भूमिका निभा रहे चिकित्सकों के साथ किसी भी तरह की बदसलूकी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बावजूद इसके अलग-अलग जगहों से डॉक्टरों के साथ मारपीट और उनके साथ बदतमीजी किये जाने का मामला सामने आ रहा है। अब मध्यप्रदेश में पुलिस पर ही चिकित्सकों के साथ मारपीट और उन्हें गाली देने का आरोप लगा है। राजधानी भोपाल में हुई इस घटना को लेकर चिकित्सकों का कहना है कि पुलिस वालों ने उन्हें पीटा, गालियां दीं तथा उनपर कोरोना वायरस फैलाने का आरोप लगाया है।

चिकित्सक युवराज सिंह और महिला चिकित्सक ऋतुपर्णा ने दावा किया है कि बुधवार (09 अप्रैल, 2020) को शाम के वक्त वो दोनों अपना काम खत्म कर घर लौट रहे थे। तब ही रास्ते में पुलिस की पेट्रोलिंग पार्टी ने उन्हें रोका। लेकिन अपना पहचान पत्र दिखाए जाने के बाद पुलिस ने ना सिर्फ उनके साथ मारपीट की बल्कि उन्हें गालियां दी और उनपर कोरोना वायरस फैलाने का आरोप लगाया।

यहां आपको बता दें कि यह दोनों चिकित्सक All India Institute of Medical Sciences में कार्यरत हैं। Department of Forensic Medicine and Toxicology विभाग के इन डॉक्टरों के आरोपों के बाद हड़कंप मच गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस की पिटाई से ऋतुपर्णा के पैर में चोट आई है जबकि दूसरे चिकित्सक युवराज सिंह का दाहिना हाथ टूट गया है।

इधर इस मामले पर अब राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। पूर्व मुख्यमंत्री ने इस घटना को बेहद शर्मनाक करार दिया है। पूर्व सीएम ने डॉक्टरों के साथ हुई मारपीट की इस घटना पर ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘AIIMS की एक महिला और पुरुष चिकित्सक के साथ पुलिस द्वारा मारपीट किये जाने की घटना बेहद शर्मनाक है।

जनता के बीच जाकर अपनी सेवा कर रहे बहादुर चिकित्सकों पर हमें गर्व है। यह अपनी जान खतरे में डाल कर काम कर रहे हैं। इस मामले में सरकार को तुरंत एक्शन लेना चाहिए और जांच कराकर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।’

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में चिकित्सकों के साथ मारपीट किये जाने की यह कोई पहली घटना नहीं है। कुछ ही दिनों पहले इंदौर में चिकित्सकों पर उस वक्त पत्थर बरसाए गए जब वो लोगों के स्वास्थ्य की जांच करने पहुंचे थे। इस पत्थरबाजी में भी चिकित्सकों को चोटें आई थीं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 रांची: सैनिटाइज करने गई टीम पर घर के छतों से थूकने लगे लोग, बिना काम खत्म किये लौटे नगर निगम कर्मचारी
2 India Lockdown: मनाही के बावजूद मस्जिद में पढ़ रहे थे नमाज, पुलिस ने 40 लोगों पर दर्ज कर ली FIR
3 बिहार: शमशान में साधना कर रही महिला को डायन बता काटे बाल, केस दर्ज