यूपी चुनाव से पहले ओवैसी को सता रहा हत्या का डर, लोकसभा स्पीकर को पत्र लिखकर की सुरक्षा की मांग

असदुद्दीन ओवैसी ने लोकसभा स्पीकर ओम बिराला को पत्र लिखकर अपनी सुरक्षा को और बढ़ाने की गुजारिश की है। ओवैसी ने सुरक्षा की मांग करते हुए कहा है कि दिल्ली स्थित उनके बंगले में तोड़-फोड़ के बाद उनकी जान को खतरा है।

owaisi security, owaisi home vandalism, aimim chief asaduddin owaisi
ओवैसी ने सुरक्षा को लेकर लोकसभा अध्यक्ष को लिखा पत्र (फोटो- पीटीआई)

यूपी चुनाव से पहले एआईएमआईएम (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी को अपनी जान का डर सता रहा है। ओवैसी ने अपनी सुरक्षा को लेकर लोकसभा स्पीकर को खत लिखा है।

ओवैसी ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला को लिखे अपने पत्र में सुरक्षा की मांग करते हुए कहा है कि दिल्ली स्थित उनके बंगले में तोड़-फोड़ के बाद उनकी जान को खतरा है। बेहतर सुरक्षा की मांग करते हुए ओवैसी ने कहा कि उनके बंगले पर हुए हमले को लेकर संसद की विशेषाधिकार समिति जांच करे।

ओवैसी ने कहा, ‘मेरे आवास पर तोड़फोड़ की यह पहली घटना नहीं है। पिछले हमलों के बावजूद, सुरक्षा एजेंसियों का रवैया कम से कम कहने के लिए उदासीन रहा है। इसलिए, मैं आपसे हस्तक्षेप करने का अनुरोध करता हूं, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि पुलिस इस मामले को गंभीरता से ले।

ओवैसी ने अपने पत्र में लिखा- “यह सदन की अवमानना ​​और संसद की स्वतंत्रता पर हमला है। सदन के संरक्षक के रूप में, सदन, उसके सदस्यों और अधिकारियों की रक्षा करना आपके कार्यालय का कर्तव्य है। मेरे केयरटेकर स्टाफ राजू लाल पर भी अपराधियों ने हमला किया और उन्होंने मुझे जान से मारने की धमकी दी है”।

बता दें कि ओवैसी के दिल्ली स्थित घर पर मंगलवार को हिंदू सेना के लोगों ने तोड़फोड़ की थी। घटना के समय ओवैसी अपने घर पर नहीं थे। पुलिस ने इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। ओवैसी इन दिनों होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारियों में व्यस्त हैं। ओवैसी लगातार यूपी का दौरा कर रहे हैं और पार्टी के लिए जनसमर्थन जुटाने में लगे हैं।

घटना के बाद इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए ओवैसी ने कहा था कि यह सब देश में कट्टरता और नफरत के माहौल के कारण है। आप विरोध करते हैं लेकिन तोड़फोड़ क्यों करते हैं? जंतर-मंतर सिर्फ 200 मीटर दूर है। वे वहां विरोध कर सकते हैं। उनको कौन रोक रहा है? ये हिंदुत्व ब्रिगेड के मुख्य तत्व हैं। इसे खत्म करना सरकार का काम है। केवल सरकार ही इस कट्टरपंथ पर पूर्ण विराम लगा सकती है।

पढें जुर्म समाचार (Crimehindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
यूपी बीजेपी अध्यक्ष ने कहा- अब इनका खेल खत्म करना है, यूपी में न सपा, न भाजपा, पीएम नरेन्द्र मोदी के सामने ही फिसली जुबानParivartan Rally, BJP, UP
अपडेट