ताज़ा खबर
 

8 साल बाद पुलिस ने सुलझाई डबल मर्डर की गुत्थी, दुल्हन ने प्रेमी संग मिल रची थी साजिश, ब्रेन मैपिंग और हड्डी से हुआ खुलासा

8 साल से जो राज छिपा था, दिल्ली पुलिस ने उसका खुलासा कर दिया। दिल्ली के चर्चित रवि हत्या में पुलिस ने अंततः असली कातिल तक पहुंचने में सफलता पा ही गई।

Author दिल्ली | Published on: October 8, 2019 10:42 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स -इंडियन एक्सप्रेस)

दिल्ली में 8 साल पहले हुए चर्चित रवि हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने उस राज पर से पर्दा हटा दिया, जिसे अवैध प्रेमसंबंध की आड़ में उसकी पत्नी और उसका प्रेमी छिपाए हुए थे। कातिल कोई और नहीं, बल्कि वही दोनों थे। इस घटना में शुरू से ही शक इन्हों दोनों पर था, लेकिन पुलिस को मजबूत सबूत नहीं मिल पा रहा था।

योजना बनाकर रची गई थी कहानी: 22 मार्च 2011 को जयभगवान का 22 साल का बेटा रविकुमार पत्नी शकुंतला के साथ घर से निकलकर समालखा में रहने वाले अपने साढ़ू के यहां चला गया। बाद में अकेल ससुराल लौटी शकुंतला ने बताया कि उसका पति रवि कुछ देर में आने की बात कहकर निकला है, लेकिन लौटा नहीं तो वह वापस ससुराल चली आई। दूसरे दिन तक कुछ पता नहीं चलने पर जय भगवान ने कापसहेड़ा थाने में बेटे रवि के लापता और अपहरण होने की रिपोर्ट दर्ज करा दी।

National Hindi News, 8 October 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

क्राइम ब्रांच ने जांच शुरू की तो सच सामने आने लगा: इस मामले की जांच पहले जिला पुलिस ने की, बाद में इसे क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई। क्राइम ब्रांच को शुरू से ही शकुंतला पर शक गहराया। इस बीच शकुंतला के भाई राजू के दोस्त कमल सिंघला की जानकारी मिली। वह शकुंतला का ब्वाय फ्रेंड भी था। पूछताछ में दोनों ने कोई बात नहीं बताई। लेकिन पुलिस को शक इन्हीं पर था, इसलिए डीसीपी टिर्की ने सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) सुरेंद्र कुमार गुलिया के नेतृत्व में एक पुलिस टीम बनाकर इन पर नजर रखने को कहा।

ब्रेन मैपिंग से निकली चौंकाने वाली रिपोर्ट: इसी बीच इन दोनों का ब्रेन-मैपिंग टेस्ट कराया गया तो चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई। इसमें पता चला कि शकुंतला की शादी से पहले उसके पड़ोस में रहने वाले ब्वॉय फ्रेंड कमल सिंघला ने कहा कि रवि से शादी करने के बाद भी उससे शारीरिक संबंध न बनाए। उसी ने घटना वाले दिन शकुंतला और रवि को साढू के यहां भेजा था। जब रवि वहां पहुंचा तो कमल ने उसको नशीली चाय पिलाकर बेहोश कर दिया और बाद में उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। लाश को राजस्थान के अलवर जिले में एक जगह साढ़े पांच फीट गहरे गड्ढे में दफना दिया गया। उसी जगह के बगल में कमल की दुकान है।

अलवर में दफनाई लाश हुई बरामद: ब्रेन मैपिंग के तुरंत बाद शकुंतला और कमल सिंघला लापता हो गए। 27 सितंबर को पुलिस को जानकारी मिली कि दोनों शालीमार कालोनी अलवर राजस्थान में हैं। पुलिस ने दोनों को पकड़ लिया और बाद में उनके ड्राइवर गणेश को समस्तीपुर बिहार से पकड़ लिया गया। यहीं से पूरी घटना खुल गई। सख्ती बरतने पर दोनों ने लाश बरामद करा दी और दोनों के अवैध संबंध का भी खुलासा हो गया। गड्ढे में से लाश निकालने पर सूखी हड्डियां मिलीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ओडिशा: शादी होने के बाद भी प्रेमिका से बरकरार रखे संबंध, युवती के परिजनों ने बुलाया और जिंदा जला डाला
2 दुल्हन की सहेली का यौन उत्पीड़न कर बोला – संभव हो तो मेरी पत्नी के लिए खुश रहना, धरा गया दूल्हा
3 मध्य प्रदेश: एक ट्रक ने ऑटो में इतनी जोर से मारी टक्कर, दूसरे ट्रक से जा भिड़ा, 6 लोगों ने तड़प-तड़पकर तोड़ा दम