ताज़ा खबर
 

उभरती एक्ट्रेस के दो टुकड़े कर लाश से की हैवानियत, 70 साल बाद भी नहीं सुलझी यह मर्डर मिस्ट्री

एक फार्मासिस्ट ने हालांकि जांच के दौरान पुलिस से कहा था कि उसे शरीर को दो हिस्सों में काटना आता है, लेकिन बाद में उसने पुलिस से कहा कि वो मजाक कर रहा था।

Author January 27, 2019 4:13 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर

बला की खूबसूरत वो लड़की अभिनेत्री बनना चाहती थी। अभी उसकी उम्र महज 22 साल थी और उसे पूरी उम्मीद थी कि एक ना दिन उसे जरुर फिल्मों में कोई बड़ा रोल निभाने का मौका मिलेगा। लेकिन शायद उसकी इन हसरतों को किसी की नजर लग गई। इतनी कम उम्र में ही उसकी बेरहमी से किसी ने हत्या कर दी और हैरानी की बात है कि उसकी हत्या के 70 साल हो गए लेकिन आज तक कानून के लंबे हाथ उसके हत्यारों तक नहीं पहुंच सके। यह कहानी है एलिजाबेथ शॉर्ट की। मैसेच्युएट्स के बॉस्टन में 29 जुलाई साल 1924 को एलिजाबेथ का जन्म हुआ। पांच साल की उम्र से ही एलिजाबेथ शॉर्ट एक्ट्रेस बनने का ख्वाब संजोने लगी। सन् 1940 के मध्य में एलिजाबेथ शॉर्ट लॉस एंजेलिस, कैलिफोर्निया में रहने लगी। यहां वो अपनी आर्थिक स्थिति को ठीक रखने के लिए वेटरेस का काम कर रही थीं। एलिजाबेथ का सपना था हॉलीवुड फिल्मों में अदाकारी करने का।

एलिजाबेथ शॉर्ट ज्यादातर काले कपड़े पहनती थीं। कहा जाता है कि वो काफी आकर्षक थीं और उनकी ऊंगलियां बेहद खूबसूरत थीं। दूसरी लड़कियों की तरह एलिजाबेथ भी हॉलीवुड में बड़ा नाम कमाने आई थीं। फिल्मी दुनिया से जुड़े लोगों से जान-पहचान हो सके इसके लिए एलिजाबेथ ज्यादातर नाइट क्लबों में जाया करती थीं। यहां कई बड़ी हस्तियों ने उन्हें नोटिस भी किया था। एलिजाबेथ ने हॉलीवुड में आने से पहले मॉडलिंग भी की थी। काले कपड़ों की शौकिन होने की वजह से एलिजाबेथ के दोस्त उन्हें ब्लैक दाहिया भी कहते थे।

लेकिन साल 1947 में इस उभरती हुए अभिनेत्री के साथ कुछ ऐसा हुआ शायद जिसका अंदाजा किसी को नहीं था। इस साल जनवरी के महीने में एलिजाबेथ शॉर्ट की बेरहमी से हत्या कर दी गई। हत्यारे ने एलिजाबेथ के मृत शरीर को क्षत-विक्षत कर दिया था। जानकारी के मुताबिक एलिजाबेथ की क्षत-विक्षत मृत शरीर को सबसे पहले बेटि बरसिंगर नाम की एक महिला ने देखा था। एलिजाबेथ के शव के पास सबसे पहले पुलिस अधिकारी फ्रैंक परकिन्स और विल फिटगरआल्ड पहुंचे थे। शुरुआती जांच में पता चला कि एलिजाबेथ की हत्या कहीं और की गई थी और उनके शव को लाकर यहां फेंक दिया गया था। हत्यारे ने एलिजाबेथ की हत्या से पहले उन्हें काफी प्रताड़ित किया था और उनके शरीर पर घाव के कई निशान भी मिले थे। एलिजेबाथ की ऑटोप्सी रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि उनके शरीर पर स्पर्म नहीं मिला और उन्हें ज्यादातर घांव मरने के बाद दिए गए थे।

15 जनवरी को लॉस एंजेलिस के साउथ नॉर्टन एवेन्यू के पास स्थित लिमेर्ट पार्क में एलिजाबेथ की लाश नग्न हालत में मिली थी। हत्यारे ने एलिजाबेथ की शरीर के टुकड़े-टुकड़े कर दिए थे। इस हत्या की जांच करने वाले एक जासूस ब्रेन कार ने कहा था कि मैं सोच भी नहीं सकता कि कोई इंसान किसी इंसान के साथ ऐसा भी कर सकता है। कोई किसी के शरीर के टुकड़े भी कर सकता है। एलिजाबेथ की मौत की खबर को मीडिया ने बड़ी ही शिद्दत से उठाया। एलिजाबेथ की मौत के बाद पुलिस उनकी हत्यारे की तलाश में जुट गई। साल 1940 ‘ब्लैक दाहिया’ मर्डर केस को हॉलीवुड में भी जाने जाने लगा। इस दौरान पुलिस ने 100 से ज्यादा संदिग्धों से एलिजाबेथ की मौत को लेकर पूछताछ भी की। इस दौरान पुलिस ने एक शक्स रेड मैनले को पकड़ा जो कि एक क्लब का मालिक था। लेकिन पोलीग्राफ टेस्ट पास करने के बाद रेड मेनले पुलिस की पकड़ से आजाद हो गया।

एलिजाबेथ की मौत के बाद कई तरह की बातें कही जाने लगीं। उस वक्त एक अखबार में खबर छपी जिसने एलिजेबाथ के कुछ सामानों के बारे में सूचना दी। इन सामानों में एलिजाबेथ का सोशल सिक्युरिटी कार्ड, जन्म प्रमाण पत्र, तस्वीरें, बिजनेस कार्ड, शूटकेस इत्यादि थीं। कहा जा रहा था कि यह सभी सामान एलिजेबाथ बस स्टैंड पर भूल गई थीं। इसके अलावा एक एड्रेस बुक भी बरामद किया गया था हालांकि इसके कई पन्ने फटे थे। पुलिस ने इन सभी सामानों को कब्जे में लेकर फिंगर प्रिंट्स की जांच की लेकिन कोई ठोस सुराग नहीं मिल सका।

पुलिस एलिजाबेथ की मौत की सही तारीख का भी पता नहीं लगा सकी। जांच के दौरान कई लोगों से पूछताछ की गई। नाइट क्लब के मालिक मार्क हेनसेन और रेड मैनली से भी पूछताछ हुई। कई तरह की थ्योरी पुलिस ने इस मर्डर केस को लेकर बनाई लेकिन सच यह है कि आज तक वो असली हत्यारे तक नहीं पहुंच सकी। एक फार्मासिस्ट ने हालांकि जांच के दौरान पुलिस से कहा था कि उसे शरीर को दो हिस्सों में काटना आता है, लेकिन बाद में उसने पुलिस से कहा कि वो मजाक कर रहा था। इस मामले में आर्मी के एक जवाब जोसेफ डमियस पर भी पुलिस की शक की सूई घूमी थी। कहा जाता है कि जोसेफ के साथ पैसो को लेकर एलिजाबेथ का विवाद हुआ था। एलिजाबेथ के मर्डर को अब 70 साल हो गए हैं और हैरानी की बात है कि यह मर्डर अभी भी एक मिस्ट्री है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 हरियाणा: बिस्‍तर के नीचे छिपी थी महिला की लाश, ऊपर आराम से पांच दिन तक सोता रहा शख्‍स
2 जॉब के नाम पर बड़ा फर्जीवाड़ा, देश-विदेश के एक लाख लोगों से वसूले 28 करोड़, CEO समेत 13 अरेस्ट
3 गुजरात: महिला को पीटने, बेइज्जत करने और बाल काटने का वीडियो वायरल, सात लोग चढ़े हत्थे