ताज़ा खबर
 

अजय देवगन की फिल्म ‘दृश्यम’ स्टाइल में मर्डर, शव को जमीन में दफनाकर फेंक दिया मोबाइल, यूं धरे गए

केस की जांच क्राइम ब्रांच कर रही थी। सादे लिबास में सुराग तलाशने के लिए क्राइम ब्रांच की टीम कई बार जोगिंदर के ढाबे पर गई।

हत्यारे अजय देवगन की फिल्म ‘दृश्यम’ से प्रभावित थे। फोटो सोर्स – वीडियो स्क्रीनशॉट/फाइल

अजय देवगन की फिल्म ‘दृश्यम’ एक सस्पेंस थ्रीलर थी। फिल्म का नायक एक जुर्म को छिपाने के लिए ऐसी गहरी चाल चलता है कि पुलिस वाले भी घनचक्कर में पड़ जाते हैं। हैरानी की बात यह है कि कुछ लोगों ने इस फिल्म से प्रभावित होकर रियल लाइफ में भी पुलिस को बरगलाने की कोशिश की लेकिन वो पकड़े गए। मामला महाराष्ट्र के नागपुर शहर का है। यहां तीन लोगों ने मिलकर एक शख्स की हत्या की और फिर उसकी लाश को जमीन में चुपचाप दफना दिया। पुलिस की आंखों में धूल झोंकने के लिए इन्होंने ‘दृश्यम’ स्टाइल में मृतक का मोबाइल राजस्थान जा रही एक ट्रक में फेंक दिया। लेकिन यह लोग भूल गए थे कि रियल लाइफ में जुर्म छिपता नहीं और अपराधी बचता नहीं।

अवैध संबंध में हुई हत्या: जानकारी के मुताबिक मृतक का नाम पंकज दिलीप गिरमकर है। पंकज हल्दीराम कंपनी में बतौर इलेक्ट्रिशियन काम करता था। पंकज की पत्नी का 24 साल के अमर सिंह उर्फ लल्लू जोगिंदर सिंह ठाकुर से काफी दिनों से अफेयर चल रहा था। इस बात की जानकारी पंकज को हो गई थी। जिसके बाद पंकज अपनी पत्नी के साथ वर्धा जिले में शिफ्ट हो गया ताकि वो जोगिनंदर सिंह से दूर रहे।

पिछले साल दिंसबर के आखिरी महीने में 32 साल का पंकज जोगिंदर ठाकुर के नागपुर के काप्सी इलाके में स्थित उसके ढाबे पर गया था। यहां आने के बाद उसने जोगिंदर से कहा कि वो उसकी पत्नी से दूर रहे। इस बात को लेकर दोनों के बीच झगड़ा शुरू हो गया। गुस्साए जोगिंदर ठाकुर ने हथौड़े से पंकज पर हमला कर दिया। सिर पर चोट लगने की वजह से पंकज वहीं ढेर हो गया।

डेड बॉडी पर डाल दिया नमक: इसके बाद जोगिंदर ने अपने एक खानसामे और एक अन्य दोस्त की मदद से दिलीप की डेड बॉडी को स्टील के ड्रम में रख दिया। इन तीनों ने मिलकर ढाबे के बैकयार्ड में करीब 10 फीट गड्ढा खोद कर दिलीप की डेड बॉडी को दफना दिया और वहीं पर उसकी मोटरसाइकिल को आग के हवाले कर दिया।

डेड बॉडी के ऊपर उन्होंने 50 किलो नमक भी डाल दिया और उसे मिट्टी से ढक दिया। जोगिंदर ने दिलीप के मोबाइल को राजस्थान जा रही एक ट्रक में फेंक दिया।

सुराग की तलाश में सादे लिबास में पहुंची पुलिस:
इधर अचानक दिलीप के गायब होने के बाद उसके परिवार के सदस्यों ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। केस की जांच क्राइम ब्रांच कर रही थी। सादे लिबास में सुराग तलाशने के लिए क्राइम ब्रांच की टीम कई बार जोगिंदर के ढाबे पर गई। इसके बाद पुलिस ने जोगिंदर के कूक मनोज और उसके एक साथी तुषार राकेश डोंगरे से बीते शुक्रवार की रात कड़ाई से पूछताछ की और फिर इन दोनों ने यह जुर्म कबूल कर लिया।

पुलिस ने जोगिंदर को भी पकड़ लिया। पुलिस ने इसके बाद ढाबे के बैकयार्ड में खुदाई करवा कर दिलीप की लाश भी बरामद कर ली। पुलिस का कहना है कि इस मामले में इनका एक और साथी शामिल हो सकता है जिसका तलाश जारी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 मध्य प्रदेश: रेप के बाद नाबालिग की हत्या! पीड़ित परिवार ने कहा – 5,000 रुपए नहीं दिए तो पुलिस ने नहीं कराया पोस्टमार्टम
2 हैदराबाद: गर्ल्स हॉस्टल के सामने मास्टरबेटिंग कर रहे युवक का VIDEO वायरल, अब होगी कार्रवाई
3 Swami Chinmayanand Rape Case: पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद को कोर्ट से मिली जमानत, लॉ छात्रा से रेप का है आरोप