ताज़ा खबर
 

बिहार: शाम को पत्रकार की पूर्व मुखिया से हुई बहस, रात में उसी की गाड़ी से कुचल कर मौत

पत्रकार नवीन निश्‍चल रविवार रात (25 मार्च) को रामनवमी जुलूस कवर करने के बाद अपने एक अन्‍य साथी के साथ बाइक से लौट रहे थे, जब एक पुल पर तेज रफ्तार स्‍कॉर्पियो ने उनकी बाइक को टक्‍कर मार दी थी। हादसे में नवीन और उनके साथी की मौके पर ही मौत हो गई थी।

बिहार में एक पत्रकार की सड़क हादसे में मौत हो गई। (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

बिहार में एक राष्‍ट्रीय दैनिक के पत्रकार की सड़क हादसे में मौत हो गई। पत्रकार नवीन निश्‍चल ‘दैनिक भास्‍कर’ अखबार से जुड़े थे। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार नवीन रविवार रात (25 मार्च) को रामनवमी जुलूस को कवर करने के बाद एक साथी के साथ बाइक से लौट रहे थे, जब एक पुल पर तेज रफ्तार स्‍कॉर्पियो ने उनकी बाइक को टक्‍कर मार दी थी। हादसे में नवीन और उनके साथी की मौके पर ही मौत हो गई थी। दुर्घटना भोजपुर जिले से गुजरने वाली आरा-सासाराम स्‍टेट हाईवे पर हुई। यह क्षेत्र गड़हनी थाना के अंतर्गत आता है। घटना से आक्रेाशित लोगों ने स्‍कॉर्पियो को आग के हवाले कर दिया था। बताया जाता है कि शाम को नवीन की गड़हनी के पूर्व मुखिया हरसू मियां से बहस हो गई थी। पूर्व मुखिया ने कथित तौर पर उन्‍हें अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। स्‍थानीय लोग इसे हत्‍या बता रहे हैं। भोजपुर के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अवकाश कुमार के निर्देश पर पुलिस ने हरसू मियां के घर पर दबिश दी थी, लेकिन दुर्घटना के बाद ही वह फरार हो गए थे।

HOT DEALS
  • Moto C 16 GB Starry Black
    ₹ 5999 MRP ₹ 6799 -12%
    ₹0 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 13989 MRP ₹ 16999 -18%
    ₹2000 Cashback

दुर्घटना के वक्‍त स्‍कॉर्पियो में मौजूद था हरसू मियां: प्रत्‍यक्षदर्शियों का कहना है कि दुर्घटना के वक्‍त गड़हनी के पूर्व मुखिया हरसू मियां अपने के बेटे के साथ स्‍कॉर्पियो में मौजूद था। दुर्घटना के बाद वे वहां से फरार हो गए थे। जानकारी के मुताबिक, हादसे के पहले शाम को गड़हनी बाजार में नवीन और हरसू के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। इसके बाद पूर्व मुखिया ने पत्रकार को अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। दुर्घटना के बाद स्‍थानीय लोगों ने स्‍टेट हाईवे पर जाम लगा दिया था। आक्रोशित लोगों ने कुछ दुकानों में तोड़फोड़ भी की थी। प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा था।

हादसा नहींं हत्‍या: नवीन के परिजनों और स्‍थानीय लोगों ने इसे हत्‍या करार दिया है। एक और पूर्व मुखिया विनोद सिंह ने कहा कि नवीन की हत्‍या की गई है। नवीन के छोटे भाई बिहार पुलिस में कार्यरत हैं और बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्‍यक्ष हैं। नवीन गड़हनी थाने के तहत ही बगबां गांव के रहने वाले थे। वह पिछले डेढ़ दशक से पत्रकारिता में सक्रिय थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App