ताज़ा खबर
 

खुद को एनकाउंटर स्पेशलिस्ट बता महिलाओं को देता था झांसा, 7 से शादी की, 6 अन्य को बनाया हवस का शिकार

चेन्नई में एक युवक फर्जी सब इंस्पेक्टर बन कई लड़कियों को अपने चंगुल में फंसाकर उनसे शादियां कीं और कई अन्य का यौन शोषण किया। टेलीमार्केटिंग फर्म बनाकर उसने कई युवतियों को नौकरी का लालच देकर पैसे भी ऐंठता था।

Author चेन्नई | Published on: September 16, 2019 3:28 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स – इंडियन एक्सप्रेस)

चेन्नई में पुलिस ने एक ऐसे युवक को पकड़ा है जो खुद को सब इंस्पेक्टर (एनकाउंटर स्पेशलिस्ट) बताकर महिलाओं का यौन शोषण करता था। युवक एक टेली मार्केटिंग फर्म चलाता है। इसकी आड़ में उसने पिछले दो वर्षों में अपने यहां काम करने वाली सात युवतियों से शादियां की और छह दूसरी महिलाओं का यौन शोषण किया। कुछ दिन पहले वह एक गर्ल्स हास्टल पहुंचा और एक युवती से अपने साथ भाग चलने को कहा। तभी पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। उसने कई लोगों से उनके बच्चों को मेडिकल प्रवेश परीक्षा में पास कराने के नाम पर लाखों रुपये भी ठगे हैं। पुलिस की जांच में उसके पास 30 लाख रुपये मिले।

पुलिस को कई और केस होने की आशंका : चेन्नई के तिरूपुर निवासी 42 वर्षीय राजेश पृथ्वी को पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।  पुलिस को आशंका है कि उसने कई अन्य महिलाओं को भी शिकार बनाया होगा। उसके खिलाफ त्रिची, कोयम्बटूर, तिरूपुर, तिरूपति और कालाहस्ती से भी शादियां करने की शिकायतें मिली हैं। उसने एक महिला को जॉब दिलाने के नाम पर भी यौन शोषण किया था वह महिलाओं से दो खुंखार अपराधियों को मार गिराने का दावा भी करता था।

टेलीमार्केटिंग फर्म की आड़ में करता था धंधा : आरोपी युवक ने चेन्नई के नेल्सन मैनीकम रोड पर 2017 में एक टेलीमार्केटिंग फर्म स्थापित किया था। इसका प्रयोग वह महिलाओं को पकड़ने में करता था। वह महिलाओं को पुलिस की वर्दी में अपनी फोटो दिखाकर बताता था कि उसने एनकाउंटर करने के बाद नौकरी छोड़ दी। उसने अपने फर्म में 22 महिलाओं को टेलीकॉलर के जॉब में रखा है।

National Hindi News, 16 September 2019 Top Updates LIVE: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

युवती के गायब होने से खुला मामला : 30 जून को उसके फर्म में करने वाली 22 महिलाओं में से 18 वर्षीय एक युवती के परिजनों ने एगमोर पुलिस में उसके लापता होने की शिकायत दर्ज कराई। शुरुआती जांच में पुलिस को राजेश पर शक हुआ। मद्रास हाईकोर्ट के आदेश पर पुलिस ने तिरूपुर के नोचिपलायम से नौ सितंबर को उसको बरामद कर लिया। युवती ने बताया कि राजेश ने उससे शादी कर ली है।

कई फर्जी आधार और पैन कार्ड भी मिले :  चेन्नई के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आर. सुधाकर के मुताबिक उसके पास कई फर्जी आधार, पैन और वोटर आई कार्ड तथा पुलिस सब इंस्पेक्टर का यूनीफॉर्म, नकली आईकार्ड और एक जोड़ी हथकड़ी भी मिली। कार्डों पर उसका नाम राजेश पृथ्वी लिखा है, जबकि उसका असली नाम दिनेश है। एगमोर पुलिस इंस्पेक्टर सेत्तु के मुताबिक वह पहले भी एक बार नेल्लोर में गिरफ्तार हुआ था, लेकिन कोयम्बटूर रेलवे स्टेशन पर पुलिस कस्टडी से वह भाग निकला था। बाद में जमानत पर छूटने के बाद वह कई दूसरी जगहों पर छिपा रहा। वह अपना नाम भी बार-बार बदलता रहा।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 लखनऊ में 6 साल की बच्ची से रेप, फिर गले में घोंप दिया चाकू, पिता के दोस्त पर आरोप
2 6 दिन पहले महिला थाने में तैनात हुआ था जवान, वॉट्सऐप पर लिखा- साथियों की प्रताड़ना झेलना मुश्किल और लगा ली फांसी
3 कलयुगी मां: पहले एक साल के बेटे को बेचा, फिर कर्ज चुकाने के लिए एक लाख रुपए में कर दिया सगी बेटी का सौदा