दिल्लीः नाबालिग से रेप के बाद हत्या, गृह मंत्री शाह पर बरसे प्रियंका-राहुल

पुलिस ने कहा कि आरोपियों ने पीड़िता की मां को बताया कि मौत करंट से हुई है। डराया कि अगर मामला पुलिस तक पहुंचता है, तो शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जाएगा और डॉक्टर उसके महत्वपूर्ण अंगों को निकाल कर बेच देंगे।

Delhi Crime, Congress
नाबालिग दलित बच्ची से कथित दुष्कर्म और हत्या के बाद विरोध प्रदर्शन के दौरान भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद। (फोटो- पीटीआई )

दिल्ली में नौ साल की बच्ची की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत पर पीड़िता के माता पिता ने आरोप लगाया कि दक्षिण पश्चिम दिल्ली के पुराने नांगल गांव में श्मशान घाट के पुजारी ने उनकी सहमति के बिना बच्ची का अंतिम संस्कार करा दिया। पुलिस ने बताया कि घटना के संबंध में पुजारी समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उधर, कांग्रेस ने मंगलवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि देश की राजधानी में ‘जंगलराज’ कायम हो गया है।

पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस घटना को लेकर ट्वीट किया, “दलित की बेटी भी देश की बेटी है।” कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने आरोप लगाया कि गृह मंत्री अमित शाह अपनी जिम्मेदारी नहीं संभाल पा रहे हैं। उन्होंने ट्वीट किया, “दिल्ली के नांगल में नाबालिग बच्ची के साथ हुई घटना दर्दनाक एवं निंदनीय है। सोचिए क्या बीत रही होगी उसके परिवार पर? दिल्ली में कानून व्यवस्था के जिम्मेदार गृहमंत्री जी उत्तर प्रदेश सर्टिफिकेट बांटने गए थे, लेकिन खुद की जिम्मेदारी नहीं संभाल पा रहे हैं। हाथरस से नांगल तक: जंगलराज है।”

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने मुख्यमंत्री केजरीवाल पर निशाना साधा और कहा कि आम आदमी पार्टी के नेता ने दिल्ली को पेरिस बनाने का वादा करके दिल्ली का बुरा हाल कर दिया है।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “दिल्ली पुलिस के आंकड़ों के अनुसार, जून 2020 में बलात्कार के 580 मामले सामने आए थे। इस वर्ष जून में ये मामले बढ़कर 833 हो गए। केजरीवाल सरकार के शासन में दिल्ली में बच्चियों और महिलाओं से दुष्कर्म के मामले लगातार बढ़े हैं।”

पुलिस ने कहा कि आरोपी व्यक्तियों ने पीड़िता की मां को बताया कि बच्ची की मौत बिजली के करंट से हुई है। उन्होंने लड़की के परिवार वालों से डरवाते हुए कहा कि अगर मामला पुलिस तक पहुंचता है, तो शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया जाएगा और डॉक्टर उसके महत्वपूर्ण अंगों को निकाल कर बेच देंगे। रविवार रात घटना के बाद पीड़ित परिवार ने स्थानीय लोगों के साथ विरोध प्रदर्शन किया, तब पुलिस और अन्य अधिकारी सक्रिय हुए।

दक्षिण पश्चिम दिल्ली के डीसीपी इंजीत प्रताप सिंह ने कहा कि गिरफ्तार किए गए चार लोगों की पहचान श्मशान के 55 वर्षीय पुजारी राधेश्याम और सलीम, लक्ष्मी नारायण और कुलदीप के रूप में हुई है।

उधर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नौ साल की बच्ची से बलात्कार और हत्या की घटना की निंदा की और दोषियों को मौत की सजा देने की मांग की। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में कानून व्यवस्था की स्थिति में सुधार की जरूरत है। केजरीवाल ने ट्वीट किया, “दिल्ली में नौ साल की मासूम के साथ हैवानियत के बाद हत्या बेहद शर्मनाक है। दिल्ली में कानून-व्यवस्था दुरुस्त किए जाने की जरूरत है। दोषियों को जल्द से जल्द फांसी की सजा मिलनी चाहिए। कल पीड़ित परिवार से मिलने जा रहा हूं, न्याय की इस लड़ाई में परिवार की हरसंभव मदद करेंगे।”

दिल्ली के महिला एवं बाल विकास मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने सोमवार को पीड़ित परिवार से मुलाकात की थी। उन्होंने कहा, “यह बहुत चौंकाने वाला मामला है। मैंने यहां पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) और जिलाधिकारी से बात की है। मैंने उनसे कहा कि मामले की त्वरित तरीके से जांच की जाए। माता-पिता का बयान बिना किसी देरी के तुरंत दर्ज किया जाना चाहिए।” गौतम ने कहा था, “मामले की गहन जांच होनी चाहिए। अगर हमें लगता है कि जांच ठीक से नहीं हुई है तो दिल्ली सरकार मजिस्ट्रेट जांच कराएगी।”

पढें जुर्म समाचार (Crimehindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।