ताज़ा खबर
 

400 से ज्यादा पादरियों ने किया बच्चों और नाबालिगों का जमकर उत्पीड़न! चर्च के कबूलनामे पर मचा हड़कंप

कैथोलिक चर्च ने कबूल कर लिया है कि उसके करीब 400 पादरियों ने छोटे बच्चों और नाबालिगों का यौन-उत्पीड़न किया। इस बात का खुलासा करने वाली संस्था ने मामले में पोप फ्रांसिस को 27 पन्नों की एक रिपोर्ट भी भेजी है।

चर्च ने कबूल किया है कि बीते 3 दशकों में उसके पादरियों ने 624 बच्चों और नाबालिगों का यौन-उत्पीड़न किया है। (फोटो सोर्स: यह तस्वीर रॉयटर्स ने तीसरे पक्ष के हवाले से मुहैया कराई है।)

पोलैंड स्थित एक शक्तिशाली कैथोलिक चर्च के कबूलनामे पर हड़कंप मचा हुआ है। गुरुवार को छपी एक रिपोर्ट में चर्च ने स्वीकार किया कि बीते तीन दशकों में उसके करीब 400 पादरियों ने छोटे बच्चों और नाबालिगों का यौन शोषण किया है। गौरतलब है कि एक महीना पहले एक संस्था ने चर्च द्वारा किए गए यौन शोषण पर एक रिपोर्ट छापी थी। पोलिश बिशप ने कहा कि उनकी रिपोर्ट में 382 पादरियों ने 624 लोगों को अपना शिकार बनाया। इनमें 198 बच्चों की उम्र 15 साल से कम और 184 की उम्र 15 और 18 साल के बीच थी। बाकायदा आंकड़ों और तथ्यों के तौर पर पेश किए गए इस सनसनीखेज खुलासे में किसी भी गुनहगार का नाम उजागर नहीं किया गया है।

वॉरसा में आयोजित एक प्रेस-कॉन्फ्रेंस में पोलैंड के बाल अधिकार से संबंधित अधिकारी एडम जैक ने बताया, “हम सभी जानते हैं कि यहां से सिर्फ एक शुरुआत हुई है।” वहीं, आर्कबिशप मारेक जड्राजेवेस्की ने पत्रकारों को बताया, “चर्च हर हाल में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए प्रतिबद्ध है। लेकिन, यदि गुनहगार अगर अपनी गलती मानते हैं और अपने भीतर बदलाव लाने की इच्छा जाहिर करते हैं, तो उनके खिलाफ कार्रवाई में ढील भी दी जानी चाहिए।” आर्कबिशप का कहना था कि पीडोफिलिया (बच्चों के प्रति यौन झुकाव रखने वाला शख्स) सिर्फ कैथोलिक चर्चों तक सीमित नहीं है, यह परिवार के भीतर भी बड़े पैमाने पर व्याप्त है। हालांकि, अगर एक भी ऐसी घटना घटती है तो यह सिर्फ दुख पहुंचाने और शर्मिंदा करने वाली है।

फरवरी महीने में एक संस्था ने उन बच्चों की देखभाल कर रही है, जिनका पोलैंड के विभिन्न कैथोलिक चर्चों के पादरियों ने योन शोषण किया। इस दौरान संस्था ने 400 पादरियों द्वारा यौन-उत्पीड़न के आंकड़े और तथ्य इकट्ठा किए। ‘Be Not Afraid’ फाउंडेशन के कार्यकर्ताओं ने कैथोलिक चर्च की सर्वोच्च शख्सियत वेटिकन स्थित पोप फ्रांसिस को 27 पन्नों की रिपोर्ट सौंपी है और मांग की है कि पादरियों द्वारा बच्चों के यौन शोषण के खिलाफ उचित कदम उठाया जाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App