महाराष्ट्रः गढ़चिरौली के दूसरे सबसे बड़े ऑपरेशन में 26 माओवादी ढेर, 5 सौ से ज्यादा C-60 कमांडोज ने 10 घंटे ली टक्कर

एसपी अंकित गोयल ने कहा कि हमें जंगल से अभी तक 26 नक्सलियों के शव मिले हैं। मारे गए नक्सलियों की पहचान रविवार सुबह तक हो पाएगी। उनका कहना है कि एनकाउंटर सुबह 6 बजे से शुरू हुआ और शाम चार बजे तक चला। गढ़चिरौली के इतिहास में यह सबसे लंबी मुठभेड़ है।

26 Maoists killed, Fierce encounter, Maharashtra, Gadchiroli district, Maharashtra Police
गढ़चिरौली जिले में पुलिस के साथ शनिवार को हुई मुठभेड़ में 26 नक्सलियों की मौत। फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में पुलिस के साथ शनिवार को हुई मुठभेड़ में कम से कम 26 नक्सलियों की मौत हो गई। गढ़चिरौली मुंबई से 900 किलोमीटर से अधिक दूरी पर स्थित है। पुलिस का कहना है कि हमें जंगल से अभी तक 26 नक्सलियों के शव मिले हैं। इस मुठभेड़ को गढ़चिरौली का दूसरा सबसे बड़े ऑपरेशन बताया जा रहा है। 10 घंटे तक 5 सौ से ज्यादा कमांडोज ने माओवादियों का डटकर मुकाबला किया। इस दौरान दोनों तरफ से ताबड़तोड़ फायरिंग की गई।

सूत्रों के मुताबिक अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सौम्या मुंडे के नेतृत्व में सी-60 पुलिस कमांडो दल ने सुबह कोर्ची के मर्दिनटोला वन क्षेत्र में तलाशी अभियान शुरू किया था, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हुई। मारे गए नक्सलियों की पहचान का अभी पता नहीं चल पाया है, लेकिन मृतकों में नक्सलियों के एक प्रमुख नेता के भी शामिल होने का संभावना है। अधिकारियों ने पहले बताया था कि मुठभेड़ में चार पुलिसकर्मी भी गंभीर रूप से घायल हुए हैं और उन्हें उपचार के लिए हेलीकॉप्टर से नागपुर ले जाया गया है। यह जिला छत्तीसगढ़ की सीमा से सटा है।

जिला पुलिस अधीक्षक अंकित गोयल ने कहा कि हमें जंगल से अभी तक 26 नक्सलियों के शव मिले हैं। मारे गए नक्सलियों की पहचान रविवार सुबह तक हो पाएगी। उनका कहना है कि एनकाउंटर सुबह 6 बजे से शुरू हुआ और शाम चार बजे तक चला। गढ़चिरौली के इतिहास में यह दूसरी सबसे लंबी मुठभेड़ है। हालांकि, पुलिस का दावा है कि एनकाउंटर में 100 एलीड सी-60 पुलिस कमांडोज ने हिस्सा लिया, लेकिन इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक मुठभेड़ में 16 पार्टी शामिल रहीं। इनमें 500 से ज्यादा कमांडोज थे। सूत्रों का कहना है कि पुलिस को पहले से ही माओवादियों के जंगल में होने की खबर थी। कॉर्ची दालम ग्रुप के सदस्यों की अगुवाई सुखलाल कर रहा था।

गढ़चिरौली पुलिस ने इससे पहले 23 अप्रैल 2018 को 40 माओवादियों को ढेर किया था। उस दौरान दो जगहों पर मुठभेड़ हुई थी। हालांकि, शनिवार को हुए ऑपरेशन में यह अफवाह भी सामने आई कि सीपीआई (माओइस्ट) की सेंट्रल कमेटी का मंबर मिलिंद टेलटुम्बटे भी मारा गया, लेकिन पुलिस का कहना है कि अभी इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है। खबर यह भी है कि पुलिस ने एक ऐसे व्यक्ति को अरेस्ट किया था जो माओ लीडर का करीबी था। उसके जरिए ही पुलिस ने ऑपरेशन को अंजाम दिया और सटीक वार करके 26 माओवादियों को एक झटके में ढेर कर डाला।

पढें जुर्म समाचार (Crimehindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट