ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली: 19 साल की लड़की को 10 दिन तक बंधक बनाए रखा, रोज बलात्‍कार करता था, फिर पिटाई

पीड़िता ने अपनी शिकायत में बताया कि लड़के से मुलाकात होने के बाद दोनों दोस्त बने। 30 मार्च को दोनों ने मिलने का प्लान किया, मुलाकात के दौरान दोनों बातें करते हुए घूम रहे थे। आरोपी लड़का पीड़िता को अफने घर लेकर गया, जहां उसने मौका देखकर उसे बंधक बना लिया।

बलात्‍कार को लेकर नेताओं ने कई मौकों पर विवादित बोल बोले हैं। (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

राजधानी दिल्ली में बेहद ही चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां सुल्तानपुरी इलाके की 19 वर्षीय एक लड़की ने अपने दोस्त के ऊपर रेप करने का आरोप लगाया है। लड़की का कहना है कि उसके दोस्त ने उसे 10 दिन तक बंधक बनाकर रखा था और रोज उसका रेप करता था, इसके अलावा उसे पीटता भी था। रिपोर्ट्स के मुताबिक लड़की मौका देखते ही वहां से भाग निकली और सीधा अपने घर पहुंची, जहां उसने अपने परिजनों को पूरी बात बताई। बाद में लड़की और उसके परिवार वालों ने पुलिस में इस बात की शिकायत की।

इंडिया टुडे के मुताबिक पीड़िता ने अपनी शिकायत में बताया कि लड़के से मुलाकात होने के बाद दोनों दोस्त बने। 30 मार्च को दोनों ने मिलने का प्लान किया, मुलाकात के दौरान दोनों बातें करते हुए घूम रहे थे। आरोपी लड़का पीड़िता को अफने घर लेकर गया, जहां उसने मौका देखकर उसे बंधक बना लिया। उसके बाद लड़के ने कई बार पीड़िता का रेप किया। इसके अलावा लड़के ने पीड़िता की पिटाई भी की। करीब 10 दिनों तक लड़की के साथ लड़का रेप करता रहा। 9 अप्रैल को लड़की किसी तरह वहां से भागने में कामयाब हुई। पुलिस में शिकायत करने के बाद आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 354डी, 365, 344, 323 और 376 के तहत केस दर्ज किया गया।

जहां एक ओर दिल्ली में रेप की ऐसी घटना सामने आ रही है तो वहीं उत्तर प्रदेश के उन्नाव और जम्मू कश्मीर के कठुआ में भी रेप की चौंकाने वाली वारदात को अंजाम दिया गया। कठुआ में 8 साल की बच्ची के साथ लगातार 6 दिनों तक रेप करने के बाद उसके शव को जंगलों में फेंक दिया गया तो वहीं उन्नाव में पीड़िता की शिकायत के बाद उसके पिता की इस कदर पिटाई की गई कि उसकी जान चली गई। कठुआ केस में आठ लोगों को आरोपी बनाया गया है, जिनमें चार पुलिसकर्मी शामिल हैं। फिलहाल चारों को बर्खास्त कर दिया गया है। वहीं उन्नाव केस में रेप का आरोप बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App