ताज़ा खबर
 

11 साल के बेटे को चाकू से गोदा, गोली मारी फिर सूटकेस में रख फेंक आई, धरी गई मां

बच्चे का शव मिलने के बाद पुलिस ने उसके परिजनों से जब मुलाकात की तो वो सभी इस खबर से दुखित थे।

पुलिस का कहना है कि इस सौतेली मां ने अपने बेटे को चाकू से गोदा, गोली मारी और फिर उसकी डेड बॉडी को एक सूटकेस में भरकर फेंक आई। 27 जनवरी से 11 साल का यह मासूम लापता था। कई दिनों तक उसके बारे में कुछ भी पता नहीं चल सका। फिर उसके घर से करीब 1400 मील दूर कंस्ट्रक्शन का काम कर रहे कुछ मजदूरों को एक सूटकेस नजर आया। जिसके बाद उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी। जिसके बाद यह पूरा मामला खुल गया।

Colarado के इस मामले ने सबको चौंका कर रखा दिया है। ‘The Sun’ की रिपोर्ट के मुताबिक उस वक्त मजदूरों की सूचना पर Santa Rosa County Sheriff कार्यालय को अलर्ट किया गया था। जिसके बाद बच्चे के शव की पहचान 11 साल के Gannon Stauch के तौर पर हुई थी।

बच्चे का शव मिलने के बाद पुलिस ने उसके परिजनों से जब मुलाकात की तो वो सभी इस खबर से दुखित थे। इस मामले में बच्चे की 36 साल की सौतेली मां Letecia Stauch पर फर्स्ट-डिग्री मर्डर का चार्ज इसी महीने लगाया गया था। उनपर बच्चे को मरने तक प्रताड़ित करने, उसकी डेड बॉडी से खिलवाड़ करने और सबूतों को मिटाने का आरोप है।

बच्चे के डेड बॉडी की चिकित्सीय जांच करने वाले चिकित्सकों का कहना है कि बच्चे को किसी भारी हथियार से पीटा गया, उसे चाकू गोदा गया और फिर उसके हत्यारे ने उसे गोली मार दी। इस सनसनीखेज हत्या के मामले में 2 मार्च को Letecia Stauch को साउथ कैरोलीना से गिरफ्तार किया गया था और बाद में उसे कोलाराडो लाया गया।

जब यह मासूम बच्चा लापता हुआ था तब उसकी सौतेली मां ने दावा किया था उन्होंने उसे 27 जनवरी को दोपहर 3 बजे से 4 बजे के बीच उसे अपने एक दोस्त के घर जाते हुए देखा था। उस वक्त यह माना जा रहा था कि यह बच्चा अपने दोस्त के साथ कहीं चला गया है।

लेकिन इस मामले में मिले नये सूबतों ने पूरी जांच की दिशा को ही बदल कर रख दिया। इस बच्चे के पड़ोसी के घर से लिए गए सर्विलांस वीडियो में एक संदिग्ध शख्स नजर आ रहा था जिसकी पहचान बाद में पुलिस ने बच्चे की सौतेली मां के तौर पर की।

फुटेज में दिख रहा था कि 27 जनवरी को यह महिला सुबह 10 बजे बच्चे का साथ घर से निकलती है। वो दोनों एक पिक-अप ट्रक से निकलते हैं। लेकिन लौटते वक्त यह महिला अकेली थी। ऐसे कोई सबूत नहीं थे जिससे कि यह पता चले कि यह मासूम दोपहर 2 बजे के बाद घर से निकला हो। हालांकि आरोपी महिला ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों से इनकार कर दिया है। बहरहाल अभी इस मामले में ट्रायल जारी है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 कोरोना: फरीदाबाद में लॉकडाउन में खुला शराब का ठेका, हर‍ियाणा की खट्टर सरकार पर सवाल
2 3 बार डॉक्टरों ने टेस्ट करने से मना कर दिया, कोरोना वायरस से बुजुर्ग की हो गई मौत
3 फिर जुटी भीड़: बिहार में लोगों ने चोर को खंभे से बांध कर पीटा, पुलिस ने बचाया