1 crore old currency recovered 4 arreasted in vadodra - अभी भी हैं पुराने नोट, गुजरात के वड़ोदरा से एक करोड़ की बरामदगी - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अभी भी हैं पुराने नोट, गुजरात के वड़ोदरा से एक करोड़ की बरामदगी

वडोदरा पुलिस का कहना है कि गिरफ्तार किये गये सभी लोग कमिशन लेकर पुराने नोट बदलने का काम करते थे। बतलाया जा रहा है कि नोटों की यह खेप सूरत जिले से आई थी और इस पूरे खेल का सरगना किरीट गांधी है।

Author June 1, 2018 12:37 PM
पुलिस ने गुजरात से 1 करोड़ रुपए के पुराने नोट पकड़े हैंं। फोटो सोर्स- फेसबुक

देश में नोटबंदी हुए करीब 16 महीने  गुजर गए लेकिन अभी तक पुराने नोट पूरी तरह से खत्म नहीं हुए हैं। अब गुजरात पुलिस ने 1 करोड़ रुपए के पुराने नोट बरामद किये हैं। गुजरात के वडोदरा जिले से पुराने नोटों के यह बंडल बरामद हुए हैं। पुलिस इसे बड़ी कामयाबी मान रही है। मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार भी किया है। इनके पास से पुराने वाले 500 रुपए की 14,758 नोट जबकि 1000 रुपये के 26018 नोट मिले हैं। वडोदरा पुलिस का कहना है कि गिरफ्तार किये गये सभी लोग कमिशन लेकर पुराने नोट बदलने का काम करते थे। बतलाया जा रहा है कि नोटों की यह खेप सूरत जिले से आई थी और इस पूरे खेल का सरगना किरीट गांधी है।

पुलिस ने बतलाया कि पुराने नोटों को नये नोटों में बदलने का यह खेल पिछले काफी दिनों से चल रहा था। पुलिस को इसके बारे में उसके गुप्तचरों से गुप्त सूचना प्राप्त हुई। इसके बाद पुलिस ने जाल बिछाकर इन लोगों को पकड़ने में सफलता हासिल की। पुलिस ने एक शख्स को फर्जी ग्राहक बनाकर इन लोगों के पास भेजा। यह लोग उस फर्जी ग्राहक के जाल में फस गए। वडोदरा के मांजीपुर इलाके में यह खेल पिछले काफी दिनों से चल रहा था। इस गैंग का किंग पिन किरीट गांधी मांजीपुर इलाके में ही ऑटो गैराज चलाने का काम करता है।

इस मामले के तीन अन्य आरोपियों की पहचान प्रदीप परमार, राजेंद्र राजू और मनोज चौहान के रूप में हुई है। गांधी और चौहान जहां एक गराज चलाते हैं तो वहीं परमार और राजू ड्राइवर हैं। पुलिस के मुताबिक यह लोग पुराने नोटों को बेचने का काम करते थे। बहरहाल पुलिस को इस मामले में अभी बड़ी मछलियों की तलाश है जिनके बारे में इनसे लगातार पूछताछ की जा रही है।

यहां आपको याद दें कि 8 नवंबर 2016 की रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम अपने संबोधन में उस वक्त बाजार में चल रहे 500 और 1000 रुपये के नोटों को अमान्य करने का ऐलान किया था। हालांकि इसके बाद केंद्र सरकार ने लोगों को पुराने नोट बदलने के लिए समय भी दिया था और कहा गया था कि नोट जमा करने की समय सीमा समाप्त होने के बाद पुराने नोटों को रखना कानूनन जुर्म होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App