ताज़ा खबर
 

चौपाल: स्वच्छता की जिम्मेदारी

पृथ्वी, जल, अग्नि, वायु और आकाश- ये पंचमहाभूत हैं। हमारा शरीर और बाह्य प्रकृति इन्हीं पंचमहाभूतों से निर्मित है। इसलिए जिस प्रकार हम अपनी बाह्य प्रकृति को रखते हैं, उसका प्रभाव हमारे भीतरी शरीर पर अवश्य पड़ता है।

Author Updated: January 13, 2021 9:34 AM
cleanसांकेतिक फोटो।

इसीलिए इतिहास से लेकर अब तक स्वच्छता पर विशेष बल दिया गया है। आज अगर हम अपने चारों ओर दृष्टि डालें तो हमारी गली, मुहल्ले, ग्राम, शहर, नदी नाले सभी गंदगी से अटे पड़े हैं। थोड़ी-सी बारिश में ये सब उबल पड़ते हैं।

इतना ही नहीं, कल-कारखानों, मोटर वाहनों से निकलने वाले धुएं ने वायु को इतना प्रदूषित कर दिया है कि स्वच्छ वायु और जल, जिस पर प्रत्येक मानव का नैसर्गिक अधिकार है, आज उससे दूर होता जा रहा है। यही कारण है नित नए प्रकार के रोगों का जन्म होने लगा है। चिकित्सालयों तक में अस्वच्छता ऐसी है कि लगता है रोग दूर करने नहीं, लेने जा रहे हों।

आज न सिर्फ स्वच्छ जल, बल्कि स्वच्छ वायु भी बोतलबंद बिकने लगी है। पुराणों और बौद्धायन सूत्रों में ऐसे अनेक संदर्भ मिलते हैं, जहां सड़कों को स्वच्छ कर उन पर सुगंधित जल छिड़कने का उल्लेख है। बहुतों ने अपने बाल्यकाल में सड़कों पर झाड़ू के बाद छिड़काव करते नगर निगमकर्मियों को देखा भी होगा।

क्या कारण है आज यह स्वच्छ परंपरा बंद कर दी गई है? स्वच्छता के प्रति हमारी जागरूकता और अपनी जिम्मेदारी का अहसास ही हमें बहुत से रोगादि दोषों से मुक्त रख सकता है। हम अपने देश, अपने बच्चों के लिए बहुत कुछ कर जाना चाहते हैं। लेकिन क्या हम उनके लिए अशुद्ध वायु, दूषित जल, बंजर भूमि छोड़ कर जाना चाहेंगे? इस पर विचार ही नहीं, कर्म भी करने की आवश्यकता है।
’युवराज पल्लव, मेरठ, उप्र

खेल का रोमांच

एक विवाद को छोड़ दें तो भारत और आस्ट्रेलिया के बीच सिडनी टेस्ट मैच रोमांच से भरपूर रहा, सांसें रोक देने वाला। हनुमा विहारी और रविचंद्रन अश्विन का मैच बचाने वाला सफल प्रयास वर्षों तक याद किया जाएगा।

आज एकदिवसीय और टी-20 का बोलबाला है, लेकिन जो लोग क्रिकेट से प्यार करते हैं उन्हें टेस्ट मैच देखना ज्यादा पसंद है। ऐसे रोमांच से भरपूर मैच टेस्ट क्रिकेट को बचाने में सहायक होंगे। भारत और आस्ट्रेलिया को इतना प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलने के लिए बधाई।
’चरनजीत अरोड़ा, नरेला, दिल्ली

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चौपाल: चारदिवारी की हिंसा
2 चौपाल: राजनीति का हित
3 चौपाल: ऑनलाइन शिक्षा का संकट
ये पढ़ा क्या?
X