ताज़ा खबर
 

राणा अय्यूब ने ट्विटर पर बीफ खाने को बताया क्रांतिकारी कदम, मिला जवाब- इंसान बन जाओ

राणा के ट्वीट पर उन्हें इंसान बनने की हिमायत दी गई। साथ ही उन्हें भारी विरोध का सामना भी करना पड़ा।

Author May 30, 2017 11:06 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर। (फाइल)

मशहूर पत्रकार राणा अय्यूब ने बीफ विवाद में एक ऐसा ट्वीट कर दिया जिसके चलते उन्हें काफी नाराजगी झोलनी पड़ रही है। शनिवार को केरल में कांग्रेसियों द्वारा सरेआम मवेशी काटने के बाद शुरू हुए विवाद पर टिप्पणी करते हुए राणा ने लिखा कि कपट के इस समय में बीफ खाना क्रांतिकारी कदम है। उनके इस ट्वीट पर विवाद हो गया। उन्हें दूसरे ट्विटर यूजर्स का जमकर विरोध झेलना पड़ा। ट्वीट पर उन्हें इंसान बनने की हिदायत दी गई। साथ ही उन्हें काफी गाली-गलौच का सामना भी करना पड़ा।

इससे पहले पशुवध के लिए मवेशियों की खरीद-फरोख्त पर प्रतिबंध लगाने वाले केंद्र सरकार के फैसले के विरोध में शनिवार को केरल के कई हिस्सों में बीफ फेस्ट्स मनाए गए। बीजेपी प्रवक्ता के कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा पशुवध का वीडियो सामने आने के बाद पार्टी ने कार्रवाई करते हुए घटना में शामिल कार्यकर्ताओं को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। वहीं केरल के  सीपीआई (एम) के नेतृत्व वाली एलडीएफ, विपक्षी दल कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूडीएफ और इनकी यूथ विंग्स ने राज्यभर में मार्च निकाले और बीफ फेस्ट्स का आयोजन किया। केरल में गाय और भैंस दोनों के मांस को ही बीफ के रूप में जाना जाता है। यहां यह धर्म से जुड़ा मामला भी नहीं है। बहुतेरे हिंदू यहां बीफ बड़े चाव से खाते हैं। कांग्रेस के जिला इकाई प्रभारी बिंदु कृष्ण ने बताया कि मोदी जी तक बीफ पहुंचाने के लिए उसे पैक कर प्रधान डाकघर से भेजा जाएगा। पशुवध के लिए मवेशियों की खरीद-फरोख्त पर प्रतिबंध लगाने वाले केंद्र सरकार के फैसले के विरोध में शनिवार को केरल के कई हिस्सों में बीफ फेस्ट्स मनाए गए।

बीजेपी प्रवक्ता के कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा पशुवध का वीडियो सामने आने के बाद पार्टी ने कार्रवाई करते हुए घटना में शामिल कार्यकर्ताओं को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। वहीं, केरल के सीपीआई (एम) के नेतृत्व वाली एलडीएफ, विपक्षी दल कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूडीएफ और इनकी यूथ विंग्स ने राज्यभर में मार्च निकाले और बीफ फेस्ट्स का आयोजन किया। केरल में गाय और भैंस दोनों के मांस को ही बीफ के रूप में जाना जाता है। यहां यह धर्म से जुड़ा मामला भी नहीं है। बहुतेरे हिंदू यहां बीफ बड़े चाव से खाते हैं। कांग्रेस के जिला इकाई प्रभारी बिंदु कृष्ण ने बताया कि मोदी जी तक बीफ पहुंचाने के लिए उसे पैक कर प्रधान डाकघर से भेजा जाएगा।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App