लापरवाही की तस्वीर

इस बार बरसात में जलभराव के कारण दिल्ली की हालत बहुत भयावह रही।

सांकेतिक फोटो।

इस बार बरसात में जलभराव के कारण दिल्ली की हालत बहुत भयावह रही। हालांकि हर साल बरसात की वजह से दिल्ली थम जाती है, लेकिन न तो दिल्ली नगर निगम या नगर पालिका और न ही दिल्ली जलबोर्ड ने पिछली गलतियों से कोई सबक सीखा। दिल्ली के ग्रामीण से लेकर पॉश इलाके की सड़कें और कॉलोनियां जलमग्न रहीं। इसका कोई समाधान निकालने के बजाय भिन्न-भिन्न निकाय जलभराव के लिए एक दूसरे पर ठीकरा फोड़ते रहे। दिल्ली की सीवरेज प्रणाली पुरानी अवश्य हो गई है, लेकिन इनके जाम होने की मुख्य वजह इनकी समय पर सफाई नहीं होना है। निकम्मी व्यवस्था भ्रष्टाचार में लिप्त है। दिखावे के लिए मामूली सफाई करके इतिश्री समझ लिया जाता है।

क्या इन निकायों की कोई जवाबदेही तय नहीं है? घरों में डेंगू-मलेरिया के लार्वा पाए जाने पर उनका चालान कर दिया जाता है, लेकिन सड़कों, पार्कों और अन्य सरकारी जमीन पर सड़ांध मार रहे गंदे पानी में पनपे लार्वा के लिए किसका चालान होता है? चुनाव के वक्त बड़े-बड़े वादे करने वाले दल मतलब निकलने पर नागरिकों से आंख-मिचौली का खेल खेलते हैं। निरीह जनता आंसू बहा रही है। लेकिन इन महकमों को अपने स्वार्थों से फुर्सत नहीं! सभी दल एक ही तरह की प्रतिक्रिया करते हैं। ऐसे में जनता एक तरह से लाचार हालत में चली जाती है।
’सतप्रकाश सनोठिया, रोहिणी, दिल्ली

चुनौतियों के बरक्स

भारत के खिलाड़ियों के अभूतपूर्व प्रदर्शन से पूरा देश गद्गद है। पैरालंपिक में भारतीय खिलाड़ियों ने अद्भुत प्रदर्शन करते हुए उन्नीस पदक जीते, जिसमें पांच स्वर्ण शामिल है। देश को आज गर्व है उन सभी खिलाड़ियों पर, जिन्होंने विश्व पटल पर यह सिद्ध किया कि एक सौ पैंतीस करोड़ भारतीय कहीं किसी न कम नहीं हैं। हर क्षेत्र में हम सफल हैं और युवाओं के इस देश में यह शक्ति बहुत मेहनत से हासिल की जाती है। सभी भारतीय खिलाड़ियों ने हौसला नहीं हारा और साबित किया कि शरीर की कोई खास कमी उनके लिए बाधा नहीं है। उनका सामर्थ्य, सोच और संघर्ष सबके लिए प्रेरणास्रोत है। आने वाले समय में देश को अन्य ओलंपिक में इसी प्रकार की आशा है। उनके साथ-साथ समस्त देशवासियों को इसके लिए खुश होना चाहिए।
’शुभम पांडेय गगन, अयोध्या, उप्र

पढें चौपाल समाचार (Chopal News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट