ताज़ा खबर
 

चौपाल

चौपाल : युवा की दिशा

अपने देश के युवाओं का यह बड़ी विडंबनापूर्ण स्थिति यह है कि उन्हें बचपन से ही मां-बाप, लोकोक्तियों, मुहावरों, पाखंडपूर्ण साहित्य, कथित बाबाओं, गुरुओं...

चौपाल: खतरे की घंटी

इस बार सोशल मीडिया पर देश के कई मंत्रियों ने ‘बीट प्लास्टिक’ का नारा तो जम कर दिया और उनके इस नारे को खूब...

चौपाल: लोकतंत्र के लिए

कर्नाटक चुनाव के दौरान और उसके बाद बहस का केंद्र बन गया 2019 का भावी आम चुनाव। इस तरह की स्थितियों से ऐसा लगता...

चौपाल: लुप्त होते खेल

ये पारंपरिक खेल-खिलौने रचनात्मकता के साथ-साथ अलग-अलग प्रदेशों के कला-कौशल को भी दर्शाते हैं। जापान तथा अन्य देशों में हानिकारक प्लास्टिक के बजाय कागज...

चौपालः ‘नाम का परदा’ और ‘घातक प्लास्टिक’

प्लास्टिक के इस्तेमाल से मानव और जानवर के जीवन पर दुष्प्रभाव पड़ता है। साथ ही अधिक मात्रा में पर्यावरण प्रदूषित होता है।

चौपालः ‘भुखमरी के बरक्स’ और ‘दावों की हकीकत’

पिछले कुछ सालों में जिस तरह रोजगार के मौके घटे हैं, उससे मौजूदा सरकार के नीतियों पर प्रश्न चिह्न खड़ा होता है। कृषि क्षेत्र...

चौपालः ‘बेरोजगारी का अंधेरा’, ‘हाशिये पर जनता’ और ‘सेहत का पायदान’

लांसेट पत्रिका ने वैश्विक स्वास्थ्य सूचकांक जारी की है, जिसमें हमारे देश में लोगों के लिए स्वास्थ्य व्यवस्था की दृष्टि से एक चिंताजनक तस्वीर...

चौपालः प्रदूषण की मार

पर्यावरण को सबसे ज्यादा प्रदूषित विकसित देशों ने किया, लेकिन वे इसका दोष विकासशील देशों पर मढ़ते हैं।

चौपालः ‘संकट की आहट’, ‘नतीजों के बावजूद’, और ‘इनका इलाज’

हाल ही में मेरठ जिले की मवाना तहसील के सरकारी अस्पताल में एक गर्भवती महिला प्रसव पीड़ा से चौदह घंटे तड़पती रही लेकिन उसे...

चौपालः हमारा पर्यावरण

कारखानों की विशालकाय चिमनियों और आधुनिक वाहनों से निकलने वाला धुआं वायु को जहरीला बनाने लगा तो इन कारखानों और वाहनों से निकलने वाले...

चौपालः ‘प्रदूषण का प्रकोप’ और ‘बिन पानी सब सून’

एक सर्वे के अनुसार बीसवीं सदी शुरू होने के बाद ही औद्योगीकरण और बढ़ते शहरीकरण के चलते विश्व का लगभग 70 फीसद पानी की...

चौपालः नदियों की सुध

राजीव गांधी के कार्यकाल में पहली बार गंगा और यमुना की सफाई के लिए करोड़ों रुपए का बजट स्वीकृत हुआ लेकिन वह बजट कहां...

चौपाल : उपचुनाव के संकेत

अब भाजपा को 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए फिर से मंथन करने की जरूरत पड़ेगी क्योंकि बिहार और उत्तर प्रदेश में हुए लोकसभा...

चौपाल : कानून से ऊपर

राजनीतिक दलों ने अब तक न तो आरटीआई के तहत मांगी गई किसी भी सूचना का जवाब दिया है और न ही सूचना आयोग...

चौपाल : अंकों का खेल

आज जिस तरीके से मूल्यांकन प्रणाली को उदार बना कर सीबीएसी 499 अंक देकर वाहवाही लूट रहा है वह निश्चय ही हतोत्साहित करने वाला...

चौपाल : विरोध का स्वरूप

पिछले दिनों अनुसूचित जाति/ जनजाति कानून में संशोधन के विरोध में कुछ दलित संगठनों ने भारत बंद का आह्वान किया था। जगह-जगह ट्रेनें रोकी...

चौपालः ‘ईवीएम बनाम मतपत्र’, ‘तंबाकू से तौबा’ और ‘हिंदी का हाल’

अट्ठाईस मई को संपन्न उपचुनावों में कुछ जगह ईवीएम गर्मी के कारण खराब हुए। तुरंत ईवीएम-विरोधी वक्तव्यों और संपादकीय लेखों की बाढ़ आ गई।...

चौपालः रोजगार की खातिर

अगले साल लोकसभा चुनाव में 18 से 35 साल के बीच लगभग 50 फीसद युवा मतदाता होंगे, जो किसी भी पार्टी की सरकार बनाने...