चौपाल

अपना दामन

हर समस्या के लिए दूसरों पर दोषारोपण करने से बेहतर है कि हम खुद को सुधारने की कोशिश करें। हम हैं तो समाज है।...

बाजार की कला

लोक संस्कृति शोषितों और वंचितों की संस्कृति का प्रतिनिधित्व करती है। लोकप्रिय साहित्य का उद्देश्य मनोरंजन तक सीमित है जबकि लोक साहित्य अपने आचार-व्यवहार,...

संघर्ष अविराम

पाकिस्तान बार-बार संघर्ष विराम को तोड़ रहा है। तमाम नियम-कानून और वायदों (जो पहले किए जा चुके हैं) के बावजूद संघर्ष विराम का टूटना...

जहरीला भोजन

आज हमारी दिनचर्या का अहम हिस्सा बन चुके फास्टफूड, बोतलबंद पेय, पैकेट और डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ अनेक हानिकारक रसायनों से युक्त होते हैं। इस...

कलाम के नाम

दिल्ली में औरंगजेब रोड का नाम एपीजे अब्दुल कलाम रोड करने का जहां अधिकतर लोगों ने स्वागत किया है वहीं कइयों ने नाराजगी भी...

हिंदी की अपेक्षा

विश्वविद्यालयों में चयन आधरित क्रेडिट पाठ्यक्रम लागू किए जाने की वजह से न सिर्फ हिंदी का गला घोंटा जा रहा है बल्कि उसे दोयम...

जनगणना की तस्वीर

हाल ही में जारी हुए जनगणना के आंकड़े (धार्मिक) चौंकाने के साथ-साथ बेहद गंभीर हैं। क्योंकि देश और राज्य के संसाधन मसलन राशन, शिक्षा...

मानवता की मिसाल

हमें दुख है कि हमारी पीढ़ी ने महात्मा गांधी को नहीं देखा, लेकिन हम आने वाली पीढ़ियों को गर्व से कहेंगे कि हमने डॉ....

शिक्षा की बुनियाद

उत्तर प्रदेश में माननीय उच्च न्यायालय का आदेश आते ही समाज में हलचल-सी देखी जा सकती है। बहुत दिनों बाद इस तरह की खबर...

आरक्षण का दायरा

पटेल समुदाय गुजरात में व्यापारी वर्ग का बड़ा चेहरा माना जाता है। गुजरात में चालीस फीसद औद्योगिक क्षेत्रों में पटेल समुदाय काबिज है। गुजरात...

राजनीतिक बाजीगरी

राजनीति और नेताओं के दोहरे चरित्र को समझना टेढ़ी खीर होती है। अब देखिए ना, खुद को भ्रष्टाचार का दुश्मन और सुशासन का झंडाबरदार...

पंजीकरण जरूरी

भारत में 180 दिन से ज्यादा ठहरने वाले अन्य देशों के नागरिकों को विदेशी क्षेत्रीय पंजीकरण कार्यालय (एफआरआरओ) में पंजीकरण करना होता है। लेकिन...

वंचित क्यों

धर्म परिवर्तन से किसी सामाजिक समस्या का स्थायी हल नहीं निकलता है। पहले भी बहुत सारे लोगों, खासकर दलितों ने इसलिए धर्म परिवर्तन किया...

स्मार्ट शहर

स्मार्ट सिटी योजना के तहत देश के 98 शहरों को प्रति वर्ष सौ करोड़ की धनराशि मुहैया कराई जाएगी ताकि इनमें बिजली, सड़क, आवास,...

दृढ़ता का समय

गुजरात प्रशासन और मोदी सरकार के लिए यह दृढ़ता दिखाने का समय है। स्पष्ट है कि पटेल आरक्षण की मांग एक वाहियात-सी मांग है...

विकास का खेल

तवलीन सिंह का लेख ‘विकास की अहमियत’ (वक्तकी नब्ज, 23 अगस्त) पढ़ा। मुझे भी उनकी तरह इसमें कोई संदेह नहीं कि भारत की हर...

क्या औचित्य

हम जानते थे कि गुजरात का पटेल समुदाय हर मामले में बहुत समृद्ध है, पर खुद को पिछड़ा घोषित करने मांग को लेकर बाईस...

असहमति के सुर

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) विधेयक को संसद में पास कराने के लिए विशेष सत्र बुलाने की पहल के तहत सरकार ने कांग्रेस से...