ताज़ा खबर
 

चौपाल

एक ही थैली के

जिन स्थापित दलों को विस्थापित करके आम आदमी पार्टी ने अपनी जगह बनाई थी उन पार्टियों के समर्थक मीडिया हाउसों और उनके बिचौलियों द्वारा...

विकास की शर्त

स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व’ 1789 में शुरू हुई फ्रांस की क्रांति का नारा था। यह नारा तत्कालीन नवोदित पूंजीपति वर्ग का था जो सामंतों...

आप का दामन

नौ मार्च के अंक में उर्मिलेश का लेख ‘आप’, वे और हम’ और श्रद्धा उपाध्याय का ‘एक खुला पत्र’ (समांतर) कहीं न कहीं आम...

दुरुस्त आयद

देश में हुए अनेक अध्ययनों में ये तथ्य सामने आ चुके हैं कि ज्यादा से ज्यादा फसलें उगाने के लिए खेती में उर्वरकों पर...

दोस्ती में दरार

जिस दिन यह तय हो गया कि जम्मू-कश्मीर में पीडीपी और भाजपा मिल कर सरकार बनाएंगी उसी दिन से लगने लगा था कि यह...

आप से उम्मीद

आम आदमी पार्टी (आप) में नेताओं के बीच मतभेद और टकराव अच्छा संकेत नहीं है। अच्छा केवल इतना है कि पहली बार देखने को...

सजप का विलय नहीं

जनसत्ता के तीन मार्च के अंक में पुण्य प्रसून वाजपेयी के विश्लेषण ‘यह राजनीति से निकला जनादेश है, कोई मजमा नहीं’ के दूसरे पैरा...

कैसा गठबंधन

‘मित्रता में अद्वैतभाव होता है। … मित्रता समान गुण वालों के बीच शोभती और निभती है। मित्र एक-दूसरे को प्रभावित किए बिना रह ही...

अहं के कदम

सुप्रसिद्ध गीतकार पंडित प्रदीप के कालजयी गीत ‘इंसान का इंसान से हो भाईचारा…’ गाकर दिल्ली के शासन की बागडोर संभालने वाले अरविंद केजरीवाल अपने...

ये भी वही

चाहे कोई कितना ही सावधान रहे या सत्ता के घमंड में न आने की बातें करे, सत्ता की घेरेबंदी और उसका लाभ उठाने वालों...

गरीबों का मजाक

‘एक शहंशाह ने बनवा के हसीं ताजमहल, हम गरीबों की मोहब्बत का उड़ाया है मजाक’, साहिर लुधियानवी की इन पंक्तियों को अब इस तरह...

योगेंद्र यादव: प्रथम ग्रासे

योगेंद्र यादव जाने-माने राजनीतिक विश्लेषक हैं और देश की बड़ी-बड़ी पार्टियों को जनमानस के राजनीतिक रुझान का परिचय देते रहे हैं। लेकिन आम आदमी...

असुरक्षा की रेल

भारत की रेलगाड़ियों में सुरक्षा और सुविधाओं को विश्वस्तरीय बनाने के सरकारी दावे अक्सर हवाई ही साबित हुए हैं। हर बड़ी रेल दुर्घटना के...

राहुल की जगह

ऐसा क्या बुरा बचा होगा जो राहुल गांधी के बारे में नहीं कहा गया हो! उन्हें विदूषक ठहरा कर खूब खिल्ली उड़ाई गई। यहां...

किसान की पीड़ा

मेधा पाटकर का लेख ‘फिर क्यों छिड़ी जमीन की लड़ाई’ (जनसत्ता, 24 फरवरी) पढ़ा। जो व्यक्ति आजीवन किसानों की समस्याओं के लिए संघर्षरत रहा...

कैसी सीख

गणतंत्र दिवस पर हमारे देश के मेहमान बने अमेरिकी राष्ट्रपति हमें सामाजिक सद्भाव का सबक सिखा कर चले गए। अमेरिका पहुंच कर भी भारत...

उलटी गंगा

अटकलें है कि कांग्रेस आलाकमान ने राहुल गांधी को कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष बनाने का मन बना लिया है। मुझे याद है राहुल की...

अधिग्रहण की जमीन

पिछले आम चुनाव में यूपीए सरकार की अलोकप्रियता के साथ ही ‘सबका साथ सबका विकास’ के नारे और विदेशों में जमा भारतीयों का काला...