ताज़ा खबर
 

चौपाल

न्याय का तकाजा

जनसत्ता 3 अक्तूबर, 2014: भ्रष्टाचार के मामले में जयललिता को चार साल के कारावास और सौ करोड़ रुपए के भारी जुर्माने के न्यायिक फैसले...

सफाई के बरक्स

जनसत्ता 3 अक्तूबर, 2014: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के तहत देश का हर नागरिक स्वस्थ हो, जिसके लिए देश का कोना-कोना...

मुनाफे का खेल

जनसत्ता 2 अक्तूबर, 2014: तवलीन सिंह ने ‘वक्त की नब्ज’ (28 सितंबर) स्तंभ में कोयला घोटाले से संबंधित सुप्रीम कोर्ट के निर्णय पर टिप्पणी...

सूचना से परहेज

जनसत्ता 2 अक्तूबर, 2014: हमारे राजनीतिक दलों की दलील है कि वे कोई सरकारी विभाग नहीं हैं, इसलिए सूचनाधिकार अधिनियम उन पर लागू नहीं...

कूटनीतिक विचलन

जनसत्ता 1 अक्तूबर, 2014: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा को गीता भेंट करके अपनी धार्मिक निष्ठा और विश्वास का तो प्रदर्शन किया,...

हिंदी के लिए

जनसत्ता 1 अक्तूबर, 2014: देश को 1947 में स्वतंत्रता तो मिल गई पर स्वभाषा नहीं मिल सकी। स्वाधीनता के सारे दस्तावेज न केवल अंगरेजी...

अनचाही पहचान

जनसत्ता 30 सितंबर, 2014: विष्णु नागर ने ‘धार्मिक स्वतंत्रता का अर्थ’ (26 सितंबर) लेख में बहुत अहम मुद्दा उठाया है जो अक्सर चर्चा में...

पाक की रट

जनसत्ता 30 सितंबर, 2014: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में कश्मीर मुद्दा उठा कर फिर सिद्ध कर दिया कि जब-जब उनके अपने...

नकल के माफिया

जनसत्ता 29 सितंबर, 2014: हमारे यहां दो तरह की प्रतियोगी परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। पहली स्थिति में परीक्षार्थी सीधे नौकरी के लिए जंग...

न्याय में देरी

जनसत्ता 29 सितंबर, 2014: भारत के पूर्व प्रधान न्यायाधीश आरएम लोढ़ा का कहना है कि ‘सफल नहीं होंगे न्यायपालिका की स्वतंत्रता छीनने के प्रयास’...

मंगल और विज्ञान

जनसत्ता 26 सितंबर, 2014: यह कोई नई बात नहीं है, इससे पहले भी तरह-तरह के बेतुके तर्क दे-देकर विज्ञान को खारिज करने की तमाम...

परंपरा की जकड़

जनसत्ता 26 सितंबर, 2014: जिन बालक और बालिकाओं की खेलने-कूदने और पढ़ने की उम्र होती है, उस उम्र में, परंपरा कहें या मां-बाप का...

हिंदी के साथ

जनसत्ता 25 सितंबर, 2014: दिलीप खान ‘हिंदी की मुश्किलें’ (21 सितंबर) में लिखते हैं-‘सामाजिक विज्ञान से लेकर दूसरे अनुशासनों में अनुवादों को छोड़ दें...

समाज की तस्वीर

जनसत्ता 25 सितंबर, 2014: फिलस्तीनी नागरिकों की जघन्य हत्याओं पर पूरे माहौल में व्याप्त चुप्पी को लेकर अपूर्वानंद ने ‘खामोशी के शिविर’ (10 अगस्त)...

ठगी के खिलाफ

जनसत्ता 24 सितंबर, 2014: अपने ढाई दशक के इतिहास में भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड यानी सेबी को कई तरह की वित्तीय अनियमितताओं से...

मानव-धर्म

जनसत्ता 24 सितंबर, 2014: धर्म जब एक विचारधारा का रूप ले लेता है तो धीरे-धीरे उसका सांप्रदायिकीकरण हो जाता है। हिंदू, जैन, सिख, पारसी,...

दुश्मनी लाख सही

जनसत्ता 23 सितंबर, 2014: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भारतीय मुसलमानों के बारे में दिए एक वक्तव्य को लेकर आजकल चर्चाओं का बाजार गर्म है।...

न्याय का इंतजार

जनसत्ता 23 सितंबर, 2014: हमारे देश में अदालतों भर में कुल लंबित मामलों की तादाद सवा तीन करोड़ तक पहुंच चुकी है। मुकदमे बरसों-बरस...