ताज़ा खबर
 

कथनी बनाम करनी

राजनीति में झूठ बोलने का चलन आम है। जो कहा जाता है उससे पलट जाना अथवा उसके अन्य बारीक अर्थ निकाल कर समझाना कि अच्छे दिनों से मतलब अच्छे कामकाज की प्रक्रिया से था, यह भी एक तरह की धोखाधड़ी है। फिर यह कैसी प्रक्रिया है जिसे अच्छे दिनों की शुरुआत के तौर पर देखा […]

Author June 3, 2015 5:56 PM

राजनीति में झूठ बोलने का चलन आम है। जो कहा जाता है उससे पलट जाना अथवा उसके अन्य बारीक अर्थ निकाल कर समझाना कि अच्छे दिनों से मतलब अच्छे कामकाज की प्रक्रिया से था, यह भी एक तरह की धोखाधड़ी है। फिर यह कैसी प्रक्रिया है जिसे अच्छे दिनों की शुरुआत के तौर पर देखा जाए? अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल के दाम गिरने पर अपनी पीठ थपथपाना और बढ़ने पर इसे बाजार के मत्थे मढ़ देना तो ‘चित भी मेरी पट भी मेरी’ जैसी बात नजर आती है। इतना ही नहीं, एक जून से मोबाइल रिचार्ज, आर्किटेक्ट सर्विस, इंटरनेट कैफे, केबल टीवी, मोटर मरम्मत, ट्रांसपोर्ट, क्लब, पैकेजिंग, शामियाना, केडिट-डेबिट कार्ड, सौंदर्य प्रसाधन और कंसलटेंसी समेत 15० सेवाएं सेवा कर की जद में आएंगी। साथ ही होटलों में खाना, ठहरना, बीमा पॉलिसी और वातानुकूलित ट्रेनों में सफर आदि के लिए सेवा कर में बढ़ोतरी 12.6 से 14 फीसद कर दी गई है।

यह सही है कि राजस्व बढ़े इसके लिए प्रबंध करना सरकार का दायित्व है। लेकिन महंगाई पर काबू बना रहे, यह भी सरकार की ही जिम्मेदारी है। अगर तमाम विकास जनता से वसूली के जरिए होगा तो यह गंभीर चिंता का विषय है। मोदी सरकार अब भी जनता को सिर्फ भरोसा दिलाना चाहती है कि वह अच्छे दिनों आस बनाए रखे। अलबत्ता, जिस तरह से बड़े-बड़े उद्योगपतियों के हितों के अनुकूल सरकार का आचरण है उससे बुरे दिन आने की आहट जरूर दिखाई देने लगी है।

यह सही है कि एक वर्ष का समय सरकार से हिसाब लेने के लिए कम है पर इतना भी कम नहीं जितना इसे बताया जा रहा है। पहले विपरीत मौसम से चौपट फसल, अब भीषण गर्मी और मानसून के अनुकूल न होेने की खबर निश्चित तौर जनता की बेचैनी और बढ़ाने वाली साबित होगी।
श्रीश पांडेय, प्रभात विहार, सतना

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करें- https://www.facebook.com/Jansatta

ट्विटर पेज पर फॉलो करने के लिए क्लिक करें- https://twitter.com/Jansatta

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App