ताज़ा खबर
 

चौपाल: राजनीति में युवा

आज देश को स्वच्छ, स्वस्थ और मूल्यों वाली राजनीति की जरूरत है, पर यह तभी संभव है जब वंशवाद, धनबल और बाहुबल वाले लोगों के राजनीति में वर्चस्व को तोड़ा जाए तथा युवाओं को पर्याप्त प्रतिनिधित्व मिले। युवा नेता विशाल युवा आबादी वाले भारत की जरूरतों और ख्वाहिशों को बखूबी समझते हैं।

Author August 31, 2018 2:12 AM
रायपुर के युवा जिला कलेक्टर ओपी चौधरी के इस्तीफा देकर राजनीति में आने के फैसले ने उस भारतीय समाज के सामने मिसाल पेश की है।(फाइल फोटो)

रायपुर के युवा जिला कलेक्टर ओपी चौधरी के इस्तीफा देकर राजनीति में आने के फैसले ने उस भारतीय समाज के सामने मिसाल पेश की है, जो राजनीति को अछूत व संकीर्ण नजरिए से देखता है। इससे राजनीति के प्रति नकारात्मक दृष्टिकोण रखने वाली युवा पीढ़ी की धारणा बदलेगी और आइआइटी, आइआइएम या देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों में उच्च शिक्षा पा रहे कई ऐसे युवा जो राजनीति में प्रवेश के अक्सर अनिच्छुक दिखाई देते हैं, उन्हें भी राजनीति में आने की प्रेरणा मिलेगी।

आज देश को स्वच्छ, स्वस्थ और मूल्यों वाली राजनीति की जरूरत है, पर यह तभी संभव है जब वंशवाद, धनबल और बाहुबल वाले लोगों के राजनीति में वर्चस्व को तोड़ा जाए तथा युवाओं को पर्याप्त प्रतिनिधित्व मिले। युवा नेता विशाल युवा आबादी वाले भारत की जरूरतों और ख्वाहिशों को बखूबी समझते हैं। राजनीति में अगर ज्यादा ईमानदार, कर्मठ, प्रतिभाशाली तथा जागरूक उच्च शिक्षित युवा आए, जिनके पास विजन एवं ज्ञान हो, तो उनकी सोच व सामर्थ्य का अधिकतम प्रयोग हो सकेगा। यह हमारी मौजूदा राजनीति में बड़ा बदलाव ला सकता है। इससे न केवल राजनीति के बढ़ते अपराधीकरण, धनबल व बाहुबल पर काफी हद तक रोक लगेगी बल्कि भारतीय लोकतंत्र को भी मजबूत बनाने में मदद मिल सकेगी।

HOT DEALS