ताज़ा खबर
 

चौपाल: बत्ती गुल

प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी बिजली कटौती से लोग परेशान हैं। बिजली आपूर्ति में बाधा की एक बड़ी वजह बिजली की चोरी भी है।

Author Published on: June 5, 2019 1:57 AM
बनारस में पीएम मोदी

लोकसभा चुनाव समाप्त हो गए हैं और इसी के साथ उत्तर प्रदेश में बिजली की निर्बाध आपूर्ति भी बंद हो गई। जैसे-जैसे पारा ऊपर चढ़ रहा है, राज्य में शहरों और गांवों में अघोषित बिजली कटौती बढ़ती गई है और गर्मी में जीना और मुहाल हो गया है। अमेठी में जगदीशपुर एक ऐसी ही जगह है जिसने चुनाव के दौरान निर्बाध बिजली का मजा लिया था। लेकिन अब स्थिति बदल गई है। इसी तरह प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी बिजली कटौती से लोग परेशान हैं। बिजली आपूर्ति में बाधा की एक बड़ी वजह बिजली की चोरी भी है। पहले विधानसभा चुनाव, फिर लोकसभा चुनाव, लेकिन किसी भी नेता ने अवैध कनेक्शनों के खिलाफ आवाज नहीं उठाई। कटिया कनेक्शन न केवल आपूर्ति का हिस्सा हड़प ले रहे हैं, बल्कि बिजली के वितरण को भी प्रभावित कर रहे हैं। बिजली संकट ने बुंदेलखंड क्षेत्र में तो आपातकालीन हालात पैदा कर दिए हैं जहां बिजली-पानी का मिलना लगातार मुश्किल होता जा रहा है।
’प्रियंबदा, गोरखपुर

पाक का चरित्र
इस्लामाबाद में भारतीय दूतावास द्वारा आयोजित इफ्तार पार्टी में पाकिस्तानी पुलिस और सुरक्षाबलों ने सुरक्षा की आड़ में जो दमनात्मक रुख अपनाया, वह शर्मनाक है। शिष्टाचार को तार-तार करते हुए अतिथियों के साथ बदसलूकी, मारपीट, छीनाझपटी का जैसा तांडव हुआ, वह अंतरराष्ट्रीय राजनय की आचार संहिता के विरुद्ध है। एक ओर इमरान खान भारत से दोस्ती का पैगाम भेजते हैं, दूसरी ओर इस घिनौनी आचरण की निंदा नहीं करना उनके दोहरे चरित्र को परिभाषित करता है। असल में पाकिस्तान का जन्म ही नफरत, द्वेष, खूनखराबे और वैमनस्य के धरातल पर हुआ है, इसलिए उससे कोई सकारात्मक और अनुकूल आचरण की अपेक्षा हम कर ही नहीं सकते।
’अशोक कुमार, पटना

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चौपाल: सशक्त लोकतंत्र
2 चौपाल: खेती की खातिर
3 चौपाल: सूखा और संकट