ताज़ा खबर
 

नापाक मंसूबे

जहां पुलवामा हमले के तुरंत बाद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली वहीं पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने जैश का बचाव करते हुए कहा कि जैश ने कोई जिम्मेदारी नहीं ली।

Author Published on: March 5, 2019 4:01 AM
एफ-16 विमान के इस्तेमाल पर भी पाकिस्तान ने पूरी दुनिया से झूठ बोला (फोटोः फेसबुक-ImranKhanOfficial/एजेंसी)

पाकिस्तान की नापाक हरकतें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। पुलवामा हमले के बाद भारत की जवाबी कार्रवाई के विरोध में जब पाकिस्तानी वायुसेना ने भारतीय सीमा में घुसने की नापाक कोशिश की तो भारतीय वायु सेना ने जोरदार जवाब दिया और उसके एफ-16 विमान को मार गिराया। हालांकि इसमें भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान ने गिरफ्तार कर लिया था। भारतीय कूटनीतिक और अंतरराष्ट्रीय दबाव के बाद पाकिस्तान को आखिरकार विंग कमांडर को छोड़ना पड़ा। पाकिस्तान ने इसे शांति की तरफ बढ़ाया गया एक कदम बताया है। अपने आप को दुनिया के सामने शांति का मसीहा बताने के लिए उसने इस मौके का इस्तेमाल किया पर दूसरी तरफ भारत से लगती जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर लगातार गोलीबारी जारी रख कर उसने अपने असली चेहरे को भी उजागर किया है। एक तरफ वह अपने प्रधानमंत्री इमरान खान को शांति दूत बताते हुए दुनिया को उन्हें पुरस्कृत करने का अभियान चला रहा है तो दूसरी ओर भारी भरकम हथियारों से लगातार गोलाबारी भी कर रहा है।

यही नहीं, जहां पुलवामा हमले के तुरंत बाद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली वहीं पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने जैश का बचाव करते हुए कहा कि जैश ने कोई जिम्मेदारी नहीं ली। एफ-16 विमान के इस्तेमाल पर भी पाकिस्तान ने पूरी दुनिया से झूठ बोला कि उसने भारत पर हमले में इसका इस्तेमाल नहीं किया। जब भारतीय सेना ने इसके सबूत दुनिया के सामने रखे तो पाकिस्तान के झूठ का पदार्फाश हो गया। यानी एक तरफ पाकिस्तान यह दिखा रहा है कि उसने शांति की पहल की है वहीं दूसरी तरफ उसकी नापाक हरकतें लगातार अपनी चरम सीमा पर जारी हैं। पाकिस्तान सरकार के मंत्री अलग-अलग मोर्चों पर जाकर भारत को धमकाते और अपने यहां पोषित आतंकियों को बचाते हैं।

एक तरफ पाकिस्तान कहता है कि उसने भारत पर कोई हमला नहीं किया है मगर दूसरी तरफ वह विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा करते वक्त उन्हें युद्धबंदी बताता है! यह तय है कि पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज आने वाला नहीं है। इसलिए भारत ने पाकिस्तान के प्रति जो आक्रामक रवैया अपनाया है उसे और तेज करते हुए उसकी चौतरफा घेराबंदी को और बढ़ाना चाहिए। पाकिस्तान पर भरोसा करना अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारना है। भारत को पाकिस्तान पर अपनी पकड़ ढीली नहीं करनी चाहिए ताकि वह अब कभी भी ऐसी नापाक हरकत करने की हिम्मत न जुटा पाए।
’अमन सिंह, प्रेमनगर, बरेली, उत्तर प्रदेश

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 भारत का हासिल
2 मीडिया की जिम्मेदारी
3 एक स्वर में
जस्‍ट नाउ
X