scorecardresearch

सतर्कता ही सहारा

कोरोना के प्रति गांवों के निवासियों को जागरूक करने के लिए सरकार, प्रशासन और युवाओं को गंभीरता दिखानी चाहिए।

coronavirus, covid-19, utility news
गुवाहाटी रेलवे स्टेशन पर लोगों का रैंडम COVID-19 Test करते हुए एक हेल्थ वर्कर। (फाइल फोटोः पीटीआई)

देश में बढ़ते कोरोना और ओमीक्रान के मामलों पर चिंता जताते हुए प्रधानमंत्री ने सभी राज्यों और आमजन को इसके प्रति सतर्क रहने की बात कही है। देश के बहुत से राज्यों ने फिर से कोरोना के मामले बढ़ते देख अपने यहां सख्ती और पाबंदियां लगा दी। यह फैसला वैश्विक महामारी बढ़ने से रोकने के लिए सराहनीय कदम है, लेकिन सरकार और प्रशासन के साथ आमजन को भी इसके लिए अपनी भागीदारी सुनिश्चित करनी चाहिए, तभी कोरोना के बढ़ते मामलों को रोका जा सकता है, अन्यथा सरकार को ओर सख्त फैसले लेने पर मजबूर होना पड़ेगा।

इससे पर्यटन से जुड़ा कारोबार तो प्रभावित होगा ही, अन्य लोगों की रोजी-रोटी और रोजगार फिर से संकट में आ जाएंगे। कोरोना के प्रति गांवों के निवासियों को जागरूक करने के लिए सरकार, प्रशासन और युवाओं को गंभीरता दिखानी चाहिए। उन्हें यह समझाना चाहिए कि कोरोना के लक्षण महसूस होने पर अपने निकटतम किसी शहर में जाकर जांच करवाएं, टीका लगाएं और कोरोना के प्रति सावधानी और सतर्कता बरतें।

राजेश कुमार चौहान, जालंधर

पढें चौपाल (Chopal News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट