ताज़ा खबर
 

स्थायी उपाय

नकद निकासी पर कर लगाना समस्या का स्थायी समाधान नहीं कहा जा सकता

Paytm, Paytm non-internet users, Paytm cashless, Paytm transaction, cashless transaction, Paytm without smartphone, Paytm new service, Paytm app, Paytm feature, business news, jansattaतस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

नकद निकासी पर कर लगाना समस्या का स्थायी समाधान नहीं कहा जा सकता और न इससे सरकार की नकद रहित लेन-देन को प्रोत्साहन देने की मंशा फलीभूत हो सकती है। यह ठीक उसी तरह है जैसे किसी पेड़ को जड़ से उखाड़ने के बजाय सिर्फ उसकी शाखाओं को काटा जाए। हमें समस्या के समाधान को खुद एक समस्या बना देने से बचना होगा। इसके लिए सुधारवादी कदम के तहत अंशकालिक उपाय करने के बजाय स्थायी उपाय और स्वत: डिजिटल भुगतान के लिए प्रेरित करने का ढांचा विकसित करना चाहिए ताकि नकद लेन-देन की तुलना में डिजिटल लेन-देन सस्ता हो। व्यवस्था ऐसी हो कि सरकार के दबाव के बजाय लोग खुद बदलने को प्रेरित हों।

इसके उपाय के रूप में सरकार को ‘तकनीकी समावेशन’ की तरफ ध्यान देना चाहिए। मसलन, हमारे देश में एक लाख पचपन हजार डाक घर हैं जिनमें से एक लाख 30 हजार ग्रामीण क्षेत्रों में हैं। सबसे पहले हमें ग्रामीण डाक तंत्र का आधुनिकीकरण कर देश के छह लाख गांवों से जुड़ने की योजना होनी चाहिए। साथ ही सूचना का तेजी से प्रवाह कर आम जन को बदलते भारत की तस्वीर और तकनीक से अवगत कराना चाहिए क्योंकि किसी भी देश की भावी योजनाओं की सफलता उस देश के लोगों की सरल आदत में छिपी होती है और यह आदत देश की सामाजिक वयवस्था और संरचना को सुदृढ़ कर तैयार की जा सकती है। इसलिए हमें समस्याओं की जड़ों पर प्रहार करना होगा।
’नीतीश कुमार ‘निराला’, बेगूसराय, बिहार

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नीयत का सवाल
2 उम्मीद के उलट
3 वैचारिक गंदगी
Padma Awards List
X