ताज़ा खबर
 

कालेधन की वापसी

काले धन को वापस लाने के लिए हमारे पास कानून नहीं है।

Author November 7, 2016 5:23 AM
representative image

काला धन देश की जड़ों को खोखला कर रहा है। विदेशी बैंकों में भारत का कितना काला धन जमा है इसके अभी तक कोई आधिकारिक आंकड़े सरकार के पास मौजूद नहीं हैं। अनुमान है कि यह राशि खरबों में है। यह काला धन दुबई, इटली, स्विट्जरलैंड, सिंगापुर, बहामास के अलावा ब्रिटेन सहित सत्तर से ज्यादा देशों में जमा है। सर्वोच्च न्यायालय के कड़ा रुख अपनाने के बाद पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि काले धन को तुरंत वापस लाना आसान नहीं है और इस संबंध में मिली जानकारी को सार्वजनिक नहीं किया जा सकता।

उनके मुताबिक काले धन को वापस लाने के लिए हमारे पास कानून नहीं है। अब कुछ ऐसा ही रवैया मोदी सरकार का भी है। सवाल है कि जब छोटे-छोटे देश विदेशों में जमा अपना काला धन वापस ले आए, तो हमारी सरकार ऐसा क्यों नहीं कर सकती? मोदी सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि बिना किसी लाग-लपेट के विदेशों से भारत का काला धन स्वदेश लाने के लिए युद्ध स्तर पर प्रयास करे। वह इस काले धन से जुड़े दलालों, नेताओं, प्रशासनिक अधिकारियों, उद्योगपतियों आदि के नाम जाहिर करके उन्हें कड़ी सजा दिलवाने के लिए सख्त कदम उठाए। काले धन की वापसी भाजपा का अहम चुनावी वादा रहा है।
’आनंद मोहन भटनागर, लखनऊ

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App