ताज़ा खबर
 

महंगाई की मार

देश के कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पेट्रोल की कीमतों ने शतक पार कर लिया है। राजस्थान में डीजल के दाम भी सौ रुपए प्रति लीटर से ज्यादा हो गए।

पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। (एक्सप्रेस फोटो)।

देश के कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पेट्रोल की कीमतों ने शतक पार कर लिया है। राजस्थान में डीजल के दाम भी सौ रुपए प्रति लीटर से ज्यादा हो गए। प्रतिदिन पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम से देश की जनता को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। विपक्ष का कहना है कि जिस मुद्दे पर भाजपा वोट मांग कर सत्ता में आई थी, वह आज उसी मुद्दे पर बात तक नहीं करना चाहती। डीजल और घरेलू गैस के बढ़ते दाम आज बड़ा मुद्दा बनते जा रहे हैं। कोरोना महामारी के कारण देश के लाखों लोग जहां रोजी-रोटी के लिए संघर्ष कर रहे हैं, वहीं इन आवश्यक चीजों की बढ़ती कीमतें देश के लोगों पर दोहरी मार है।
’अजय धनगर, दिल्ली विवि, दिल्ली

विचित्र पूर्वाग्रह

हमारे देश को आजाद हुए सात दशक से अधिक हो गए है, लेकिन आज भी हमारे देश की महिलाओं की स्थिति में बहुत कम सुधार हुआ है। विडंबना है कि महिलाओं की काबिलियत को भी हाशिये पर छोड़ दिया जाता है। लगातार महिलाओं की आजादी पर सवाल उठाए जाते हैं। हाल ही में उत्तर प्रदेश महिला आयोग की एक सदस्य ने महिलाओं की आजादी पर एक तरह से सवाल खड़ा किया।

ये सवाल उन्होंने बलात्कार जैसे जघन्य अपराध और छेड़खानी के बढ़ते मामलों के संदर्भ में उठाए। संविधान के तहत हर प्राणी को, चाहे वह पुरुष हो या स्त्री, समान अधिकार प्राप्त है। संविधान में महिलाओं के समानता के प्रति अनेक प्रकार के कानून बनाए गए हैं। लेकिन इन कानूनों को लेकर जागरूकता भी बहुत कम रही। अगर हम स्थिति में बदलाव लाना चाहते है तो महिलाओं को वैचारिक तौर पर मजबूत करने के हर उपाय करने होंगे। तभी हम महिलाओं को इस प्रकार की घटनाओं और सामंती बयानबाजी से बाहर निकाल सकते हैं।
’गौरव, कुरुक्षेत्र विवि, हरियाणा

Next Stories
1 लहरों पर सफर
2 खतरे में बचपन
3 समस्या की जड़
ये पढ़ा क्या?
X